J&K कांग्रेस कमेटी को मंगलवार को एक बार फिर तगड़ा झटका मिला है। एक तरफ पार्टी गुलाम नबी आजाद के जाने के बाद डैमेज कंट्रोल करने के प्रयास कर रही है तो दूसरी तरफ पार्टी से नेताओं का इस्तीफा देने का सिलसिला जारी है। पूर्व उपमुख्यमंत्री तारा चंद सहित जम्मू-कश्मीर के 64 नेताओं ने गुलाम नबी आजाद के समर्थन में पार्टी से इस्तीफे की घोषणा कर दी है।

हाल ही में पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने 'हाथ' का साथ छोड़ दिया था। अब पूर्व उपमुख्यमंत्री तारा चंद सहित J&K के 64 नेताओं ने गुलाम नबी आजाद के समर्थन में पार्टी से इस्तीफे की घोषणा कर दी है। तारा चंद के अलावा, पूर्व मंत्री माजिद वानी, डॉ मनोहर लाल शर्मा, चौधरी घरू राम और पूर्व विधायक ठाकुर बलवान सिंह, पूर्व महासचिव विनोद मिश्रा कांग्रेस छोड़ने वाले कुछ हाई प्रोफाइल नाम हैं।

J&K के पूर्व उपमुख्यमंत्री ताराचंद समेत कई बड़े नेताओं के कांग्रेस से इस्तीफा देने पर गुलाम नबी आजाद की प्रतिक्रिया आई है। आजाद ने कहा, "सभी ने मेरे लिए इस्तीफा दिया है। सभी मेरे साथ हैं। कांग्रेस को अभी और कई झटके लगेंगे। ”

रिपोर्ट्स के मुताबिक, कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले इन सभी 64 नेताओं ने गुलाम नबी आजाद के नेतृत्व वाले समूह में शामिल होने का फैसला किया है। इन सभी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक संयुक्त त्याग पत्र सौंपा है।