आतंकवाद निरोधक दस्ता ने मदरसे में फर्जी आईडी के आधार पर देवबंद के नामी शिक्षण संस्थान में इस्लामिक शिक्षा ग्रहण कर रहे युवक को पकड़ा 

आतंकवाद निरोधक दस्ता ने मदरसे में फर्जी आईडी के आधार पर देवबंद के नामी शिक्षण संस्थान में इस्लामिक शिक्षा ग्रहण कर रहे युवक को पकड़ा 

आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) ने गुरुवार देर रात्रि देवबंद में कार्रवाई करते हुए एक बांग्लादेशी युवक को हिरासत में लिया है। बताया गया है कि युवक फर्जी आईडी के आधार पर देवबंद के नामी शिक्षण संस्थान दारुल उलूम में इस्लामिक शिक्षा ग्रहण कर रहा था। उसके साथ एक अन्य युवक को भी पकड़ा गया, जिसे पूछताछ करने के बाद छोड़ दिया गया।

हिरासत में आए युवक के पास से बांग्लादेशी करेंसी के अलावा कई पुस्तकें व अन्य दस्तावेज बरामद हुए हैं। सूत्र बताते हैं कि शुरुआती जांच में एटीएस को बांग्लादेशी नागरिक की गतिविधियां संदिग्ध मिलीं हैं। पड़ोसी मुल्क से भी उसके तार जुड़े होने की आशंका जताई जा रही है।

गुरुवार की रात्रि करीब 1:30 बजे एटीएस नामी शिक्षण संस्थान दारुल उलूम में पहुंची, जहां एटीएस अधिकारियों ने प्रबंधतंत्र को विश्वास में लेकर संस्था परिसर में बने छात्रावास के कमरा नंबर 61 से दो छात्रों को हिरासत में ले लिया।

पूछताछ करने और सभी दस्तावेज देखने के बाद एटीएस ने एक छात्र को असम राज्य का होने के चलते छोड़ दिया, जबकि दूसरा छात्र कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दे सका। इसके चलते उस पर शक गहरा गया। सूत्र बताते हैं कि कमरे के बाहर रखी छात्र की एक अलमारी को खुलवा कर उसकी तलाश ली गई तो उसके अंदर से बांग्लादेशी करेंसी, वहीं की कुछ आईडी, पुस्तकें और अन्य दस्तावेज बरामद हुए। एटीएस सूत्र बताते हैं कि यह छात्र बांग्लादेशी नागरिक है जो पहचान छिपाकर फर्जी दस्तावेजों के आधार पर वर्ष 2015 से देवबंद में रह रहा था। वहीं, ये जानकारी भी मिली है कि एटीएस को उसके पास से जो मोबाइल मिला है, उसमें बहुत कुछ ऐसा मिला है जो उक्त छात्र के पड़ोसी मुल्क में उसकी संदिग्ध गतिविधियों को उजागर कर रहा है।
हालांकि, अभी एटीएस की ओर से कार्रवाई को लेकर कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है। 

Share this story