Spicejet के विमानों में लगातार तकनीकी खराबी देखते हुई DGCA ने बड़ा एक्शन लिया हैं. DGCA ने Spicejet की 50 प्रतिशत उड़ानों पर 8 हफ्तों के लिए रोक लगा दी है. इन 8 हफ्तों तक एयरलाइन को अतिरिक्त निगरानी में रखा जाएगा. वहीं अगर भविष्य में एयरलाइन 50 फीसदी से ज्यादा उड़ानें चाहती है तो उसे ये साबित करना होगा कि ये अतिरिक्त भार उठाने की क्षमता उसके पास है, पर्याप्त संसाधन और स्टॉफ मौजूद हैं.

जानकारी के अनुसार, 18 दिनों के अंदर 8 बार Spicejet के विमानों में तकनीकी खराबी देखने को मिल गई थी. इसी वजह से DGCA को एयरलाइन को नोटिस भेजना पड़ गया था. उस नोटिस में कहा गया था कि घटनाओं की समीक्षा से पता चलता है कि खराब आंतरिक सुरक्षा निरीक्षण और अपर्याप्त रखरखाव की वजह से सुरक्षा मार्जिन में गिरावट आई है.

बता दें कि, कुछ दिन पहले DGCA ने Spicejet के विमानों में आ रही लगातार तकनीकी खराबी को देखते हुए नोटिस भेजा था. हाल ही में सरकार ने भी राज्यसभा में जवाब देते हुए बताया कि DGCA ने Spicejet के विमानों की स्पॉट चेकिंग की थी. उस चेकिंग में कोई बड़ी खामी सामने नहीं आई. लेकिन रिपोर्ट में DGCA ने इतना जरूर कहा था कि वर्तमान में एयरलाइन अपने 10 एयरक्रॉफ्ट सिर्फ तभी इस्तेमाल करें जब तमाम तरह की तकनीकी खराबी ठीक हो जाए.