रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी: दक्षिण रेलवे के कुछ ट्रेनों में कल से अनारक्षित कोच जोड़े जायेंगे

रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी: दक्षिण रेलवे के कुछ ट्रेनों में कल से अनारक्षित कोच जोड़े जायेंगे

दक्षिण रेलवे के कुछ ट्रेनों में कोविड-19 पूर्व स्थिति के समान ही अनारक्षित कोच जोड़े जाएंगे।

भारतीय रेल द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार, जिन अप-डाउन ट्रेनों में अनारक्षित कोच/डिब्बे जोड़े जाने हैं वे हैं... मंगलुरु सेंट्रल - चेन्नई सेन्ट्रल पश्चिमी घाट एक्सप्रेस, मंगलुरु सेंट्रल-मझगांव जंक्शन रोजाना अनारक्षित विशेष, मंगलुरु सेंट्रल-चेन्नई एगमोर एक्सप्रेस हैं।

ऐसी अन्य ट्रेनें हैं... मंगलुरु जंक्शन-यशवंतपुर जंक्शन मेल एक्सप्रेस, 6 मंगलुरु जंक्शन - यशवंतपुर जंक्शन एक्सप्रेस और मंगलुरु सेंट्रल - नगरकोइल एनार्ड एक्सप्रेस। विज्ञप्ति के अनुसार, नगरकोइन जंक्शन - मंगलुरु सेंट्रल डेली परशुराम एक्सप्रसे, मंगलुरु सेंट्रल - कोयंबटूर जंक्शन इंटरसिटी सुपरफास्ट एक्सप्रेस... अप-डाउन ट्रनों में भी अनारक्षित डिब्बे जोड़े जाएंगे।

पूर्वी तटीय रेलवे ने कोविड-19 के मामलों में काफी कमी आने के साथ यात्रियों की सुविधा के लिए ट्रेन में बेडरोल-लिनन की सेवाएं बहाल कर दी हैं। ईसीओआर के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। भारतीय रेलवे ने मार्च के दूसरे सप्ताह में ही इन सेवाओं को फिर से शुरू करने की घोषणा की थी।

हालांकि, महामारी की अवधि के दौरान लॉन्ड्री बंद होने, ट्रेन में यात्रियों को बेडरोल-लिनन की आपूर्ति करने वाली अनुबंधित सेवाओं के समाप्त होने की वजह से सभी ट्रेन में यह सेवा फिर से शुरू करना काफी चुनौतीपूर्ण था। अधिकारी ने कहा कि इसके अलावा ब्रांड और लोगो के साथ सूती वस्त्र उद्योग से नये लिनन खरीदना भी रेलवे के लिए एक चुनौती थी।

इसके अलावा उद्योगों की ओर से तत्काल इनकी आपूर्ति भी आसान नहीं थी। कई चुनौतियों का सामना करने के बाद भी ईसीओआर ने लिनन की उचित गुणवत्ता सुनिश्चित करने की चुनौती का सामना करने के लिए दिन-रात काम किया।

केंद्रीय रेल राज्य मंत्री रावसाहेब दानवे ने घोषणा की कि मुंबई में वातानुकूलित लोकल ट्रेनों का किराया 50 प्रतिशत तक कम किया जाएगा। दानवे ने भायखला रेलवे स्टेशन की पुनर्निर्मित धरोहर इमारत के उद्घाटन के अवसर पर यह घोषणा की।

Share this story