नई दिल्ली, 01 नवंबर, 2022: निसान मोटर इंडिया ने अक्‍टूबर 2022 के दौरान कुल 10,011 यूनिटों की थोक बिक्री की, जिनमें से 3061 वाहन घरेलू बाज़ार में बेचे गए और 6950 वाहनों का निर्यात किया गया। पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में, इस साल थोक बिक्री में 22% वर्ष-दर-वर्ष संचयी बढ़त दर्ज की गई है।

 

निसान मोटर इंडिया के प्रबंध निदेशक राकेश श्रीवास्‍तव ने कहा''त्‍योहारी सीज़न में वाहनों की डिलीवरी बढ़ी है क्‍योंकि ग्राहक शीघ्र डिलीवरी और आसान शर्तों पर फाइनेंस को प्राथमिकता दे रहे हैं। पहली बार वाहन खरीदने वाले ग्राहकों तथा रिप्‍लेसमेंट खरीदारों स्‍तर पर एसयूवी को लेकर प्राथमिकताएं दिखायी दी हैं। हमें भरोसा है कि आने वाले समय में आर्थिक विकास में सुधार और सप्‍लाई में सुगमता के चलते मांग में बढ़ोतरी जारी रहेगी।''  

 

अक्‍टूबर माह के दौरान, निसान ने मीडिया को भारत में अपने पोर्टफोलियो में विस्‍तार कर उसमें अपने वैश्विक स्‍तर पर साख बना चुके और प्रीमियम प्रोडक्‍ट्स X-ट्रेलकश्‍काई का परीक्षण और जूक को प्रदर्शित किया तथा चेन्‍नई स्थित अपनी मैन्‍यूफैक्‍चरिंग इकाई में इनका परीक्षण शुरू किया। X-ट्रेल ऐसा पहला मॉडल है जिसे इन परीक्षणों के पूरा होने के बाद भारतीय बाजार में पेश किया जाएगा।

 

B-SUV वर्ग में निसान मैगनाइट ने पसंदीदा वाहन के तौर पर अपनी पहचान बनायी है और अब तक 1 लाख से अधिक बुकिंग्‍स दर्ज करायी है। दिसंबर 2020 में लॉन्च बिगबोल्डब्यूटीफुल निसान मैग्नाइट (वर्तमान में 5.97 लाख रुपये की शुरुआती एक्स-शोरूम कीमत पर) जापान में डिजाइन हुई  है और इसे भारत में बनाया गया हैजो निसान इंडिया के मेक-इन-इंडियामेक फॉर द वर्ल्ड' के मैन्‍यूफैक्‍चरिंग सिद्धांत को दर्शाता है। निसान मैग्नाइट को 1 लाख से अधिक घरेलू बुकिंग के साथ बाजार में शानदार रिस्‍पॉन्‍स मिला है। जुलाई 2022 मेंनिसान ने निसान मैग्नाइट - रेड एडिशन 7.86 लाख रुपये की आकर्षक शुरुआती कीमत पर लॉन्च की है।

 

निसान मैग्नाइट को 15 से अधिक देशों में निर्यात किया जाता है। हाल में नेपालभूटान तथा बांग्लादेश में इसे लॉन्च किया गया है। निसान इंडिया ने सितंबर 2010 से निर्यात शुरू किया और फिलहाल यह चेन्नई स्थित अपने रेनॉ-निसान ऑटोमोटिव इंडिया लिमिटेड संयंत्र से 108 देशों को निर्यात करती है जिनमें न्यूजीलैंडऑस्ट्रेलिया,  मध्‍य-पूर्व एशियाई देश,  यूरोपीय देशों के अलावा लैटिन अमेरिका, दक्षिण पूर्वी एशिया, सार्क देश और उप सहारा तथा अफ्रीका के कई देश शामिल हैं। हाल के वर्षों में, निसान इंडिया ने अपने प्राथमिक निर्यात बाज़ार को यूरोप से मध्य पूर्व के देशों जैसे सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, ओमान, कतर, बहरीन और कुवैत जैसे देशों में स्थानांतरित कर दिया है।