पीएम मोदी ने की राज्य सरकारों से गुजारिश पेट्रोल-डीजल पर टैक्ट घटाएं, इस पर विपक्ष ने क्या कहा

पीएम मोदी ने की राज्य सरकारों से गुजारिश पेट्रोल-डीजल पर टैक्ट घटाएं, इस पर विपक्ष ने क्या कहा

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कोरोना की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्रियों के साथ एक बैठक की। इस दौरान पीएम ने ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों का जिक्र किया।

प्रधानमंत्री ने विपक्ष शासित राज्यों से पेट्रोल और डीजल पर टैक्स कम करने के केंद्र के फैसले का पालन करने की अपील की है, ताकि लोगों को कीमतों में बढ़ोतरी से राहत मिल सके। पीएम की इस अपील के बाद विपक्षी दलों के नेताओं के बयान सामने आ रहे हैं।

'पीएम मोदी पेट्रोल, डीजल और एलपीजी को जीएसटी के तहत लाएं'

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने पीएम मोदी के साथ हुई मुख्यमंत्रियों की बैठक को लेकर कहा, 'पीएम ने आज स्वास्थ्य को लेकर बैठक की, लेकिन उन्होंने स्वास्थ्य पर बातें कम और पेट्रोल-डीजल पर ज्यादा बात की। जिससे बैठक राजनीतिक हो गई। उन्होंने झारखंड का नाम भी लिया तो मुझे लगता है कि बैठक पेट्रोल-डीजल के दाम में हो रही वृद्धि पर सफाई देनी की थी।' बन्ना गुप्ता ने आगे कहा, 'पीएम मोदी पेट्रोल-डीज़ल और रसोई गैस की दिशा और दशा पूरी तरह से केंद्र सरकार पर निर्धारित करती है। पीएम जी एक दिशा-दशा निर्धारित कर दें और पेट्रोल-डीज़ल और रसोई गैस भी GST के दायरे में ला दें। कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई ने कहा, 'नवंबर (पिछले साल) में जब केंद्र ने उत्पाद शुल्क कम किया, तो कुछ राज्यों ने सहकारी संघवाद के अनुरूप उत्पाद शुल्क का पालन किया और उत्पाद शुल्क कम किया। 

Share this story