पटना जिले में रविवार को डेंगू के 15 नये मरीज मिले़ इसके साथ ही जिले में डेंगू मरीजों की संख्या अब 411 तक पहुंच गयी है. इनमें 292 शहर और बाकी 199 लोग ग्रामीण एरिया के रहने वाले हैं. इसके अलावा 120 से अधिक ऐसे मरीज मिले हैं, 

18 जगहों पर डेंगू का लार्वा मिला

सिविल सर्जन डॉ केके राय ने बताया कि हेल्थ विभाग की 10 टीमों ने शहर के डेंगू प्रभावित इलाकों में पहुंच सर्वे किया. जहां 18 जगहों पर डेंगू का लार्वा मिला, जिसे टीम ने मौके पर नष्ट किया और चेतावनी दी कि अगर सर्वे के दौरान फिर से लारवा मिला तो चालान काटेजायेंगे. शहर के पीएमसीएच व एनएमसीएच में 30 बेड का डेंगू वार्ड बनाया गया है.

दो अंचलों में बनाया गया फॉगिंग सेंटर

पटना में डेंगू के हालात बेकाबू होते जा रहे हैं. ऐसे में पटना नगर निगम की ओर से आपातकालीन कदम उठाये जा रहे हैं. निगम प्रशासन द्वारा शहर के दो अंचलों में फॉगिंग सेंटर बनाया गया है. पहले की तरह सभी अंचलों से अब फॉगिंग के केमिकल नहीं लोड होंगे, बल्कि तय सेंटर पर ही डीजल एवं केमिकल की मिक्सिंग होगी.

वीडियोग्राफी भी की जायेगी

अंचल एवं नूतन राजधानी अंचल के वाहनों के लिए और बांकीपुर अंचल में कंकड़बाग, अजीमाबाद, पटना सिटी के लिए फॉगिंग सेंटर होंगे. साथ ही जब भी फॉगिंग के लिए गाड़ियां निकलेंगी. उस पर केमिकल पदाधिकारियों की निगरानी रहेगी व इसकी वीडियोग्राफी भी की जायेगी.