जम्मू-कश्मीर के बारामुला में भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस कुछ इनपुट के आधार पर 1 पाकिस्तानी आतंकी को पकड़ने गई थी. लेकिन उस ऑपरेशन के दौरान आतंकी की 1 गोली राइफलमेन कुलभूषण मानता को लग गई. घायल अवस्था में उन्हें अस्पताल में भर्ती तो करवाया गया लेकिन गुरुवार दोपहर को उनकी मौत हो गई. देश की रक्षा करते हुए वे वीर गति को प्राप्त हुए.

बारामुला जिले के वाशरन में 1 पाकिस्तानी आतंकी छिपा हुआ है. ऐसे में उसे पकड़ने के लिए सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बुधवार सुबह 5 बजे एक सर्च ऑपरेशन शुरू किया था. जैसे ही सेना एक जंगल में पहुंची, आतंकी द्वारा गोलीबारी शुरू कर दी गई. उस गोलीबारी में राइफलमेन कुलभूषण मानता शहीद हो गए. उन्हें इलाज के लिए GMC बारामुला और फिर 92 बेस अस्पताल में एडमिट करवाया गया था, लेकिन आज गुरुवार को उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उनकी मौत हो गई. कुलभूषण हिमाचल प्रदेश के निवासी थे और अब उनके पार्थिव शरीर को भी उनके गांव ले जाया जाएगा.

सेना के इस ऑपरेशन की बात करें तो एक लश्कर के आतंकी को जिंदा पकड़ा गया है. उसका नाम निसार अहमद भट्ट है. एक दूसरा आतंकी भी मौके पर मौजूद था, लेकिन वो भागने में कामयाब हो गया, उसकी तलाश अभी की जा रही है. इस मामले में कई धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है और आगे की जांच की जा रही है. वैसे कुछ दिन पहले ही सेना ने शोपियां में एक बड़े एनकाउंटर को अंजाम दिया था. उस मुठभेड़ में 3 आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया गया. तीनों ही आतंकी जैश के बताए गए थे.