New Delhi: ब्रिटेन की नौसेना रॉयल नेवी का ऑफशोर पेट्रोल वेसल (खुले समुद्र में निगरानी करने वाला युद्धपोत) एचएमएस तामार अंडमान और निकोबार द्वीप समूह पहुंचा है।

इस युद्धपोत को हिंद प्रशांत क्षेत्र में निगरानी के लिए तैनात किया गया है। ब्रिटेन से रवाना होने के बाद युद्धपोत पहली बार भारत के पोर्ट पर रुका है।

अगले पांच दिन तक एचएमएस तामार और इसके क्रू मेंबर भारतीय नौसेना के साथ अभ्यास करेंगे। यह युद्धपोत हिंद प्रशांत क्षेत्र में ब्रिटेन द्वारा तैनात किए गए दो पोत में से एक है। एडमिरल सर बेन ने कहा कि मुझे खुशी है कि एचएमएस तामार इस सप्ताह अंडमान और निकोबार द्वीप समूह का दौरा कर रही है। भारतीय नौसेना के साथ प्रशिक्षण और अभ्यास करने का अवसर बेहद महत्वपूर्ण है।

एडमिरल सर बेन ने कहा कि एचएमएस तामार और उसका दल हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सहयोगियों, भागीदारों और दोस्तों के साथ जो काम कर रहा है वह बेहद महत्वपूर्ण है। वैश्विक शांति और स्थिरता के लिए खतरा बढ़ रहा है। इसे देखते हुए रॉयल नेवी भारतीय नौसेना के साथ अपने संबंधों को अधिक महत्व दे रही है।

भारत में कार्यवाहक ब्रिटिश उच्चायुक्त क्रिस्टीना स्कॉट ने कहा कि एचएमएस तामार की तैनाती साफ संदेश है कि यूके का इंडो-पैसिफिक में झुकाव बढ़ रहा है। यूके भारत के साथ अपने रक्षा और सुरक्षा संबंधों को बहुत महत्व दे रहा है। भारत भविष्य के विकास और समृद्धि को संचालित करेगा। इसके लिए जरूरी है कि हिंद-प्रशांत व्यापार के लिए स्वतंत्र और खुला रहे। बता दें कि एचएमएस तामार और एचएमएस स्पाई सितंबर 2021 से भारत-प्रशांत क्षेत्र में दीर्घकालिक तैनाती पर हैं।