उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता इस हद तक पहुंच गई है कि कुछ लोगों ने यहां के एक मंदिर में उनकी प्रतिमा स्थापित कर पूजा भी शुरू कर दी है।

अयोध्या में योगी आदित्यनाथ का मंदिर बनाया गया है, जहां नियमित रूप से सुबह और शाम दोनों समय विशेष पूजा-अर्चना की जाती है और पूजा के बाद भक्तों के बीच प्रसाद बांटा जा रहा है। इस बीच सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इसको लेकर कटाक्ष भी किया है। 

यह मंदिर राम जन्मभूमि से करीब 25 किलोमीटर दूर जिले के भरतकुंड क्षेत्र में फैजाबाद-प्रयागराज राजमार्ग पर बनाया गया है। माना जाता है कि भरतकुंड वह स्थान है जहां भगवान राम के भाई भरत ने उन्हें वनवास जाते समय विदाई दी थी। मंदिर का निर्माण करने वाले स्थानीय निवासी प्रभाकर मौर्य ने कहा, ''हमने योगीजी का मंदिर बनाया है, जो भगवान राम का मंदिर बना रहे हैं।'' मौर्य ने कहा कि वह CM योगी आदित्यनाथ के कार्यों से बहुत प्रभावित हैं। उन्होंने कहा, ''मुख्यमंत्री ने जिस तरह से जनकल्याण के काम किए हैं, उन्हें देवता जैसा स्थान मिल गया है। 

इस मंदिर में धनुष और बाण से सुसज्ज्ति योगी आदित्यनाथ की आदमकद प्रतिमा स्थापित की गई है और इस प्रतिमा को भगवा रंग में रंगा गया है। प्रभाकर मौर्य ने कहा कि वह भगवान श्री राम की तरह प्रतिदिन योगी की प्रतिमा के सामने भजन पाठ करते रहते हैं

उन्होंने कहा कि वह बेरोजगार और भूमिहीन हैं,भजन और धार्मिक गीत पोस्ट करके महीने में लगभग एक लाख रुपये कमाते हैं और उसी पैसे से इस मंदिर का निर्माण किया। इस मंदिर की समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने एक ट््वीट में कहा, ''ये तो उनसे भी दो कदम आगे निकले, अब सवाल ये है कि पहले कौन ?