पटना में हर तरफ छठ की छटा दिखने लगी है. लेकिन इस बीच अगर आप सतर्क नहीं रहें तो डेंगू पर्व का मजा फीका कर सकती है. पटना जिले में डेंगू का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है. जिससे नगर-निगम और स्वास्थ्य विभाग की व्यवस्थाओं की पोल खुल रही है. लगातार शहर के सभी इलाके से डेंगू के मरीज मिल रहे हैं, इसके साथ ही भर्ती मरीजों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है. शुक्रवार को जिले में 214 नये मरीज मिले हैं.

डेंगू का आंकड़ा 5281 के पार

जिले के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, अनुमंडलीय अस्पताल और कुछ निजी अस्पताल व पैथोलॉजल लैब के जांच में कुल 123 नये मरीज मिले हैं. इनमें 4 बच्चे, 12 किशोर व बाकी युवक व बुजुर्ग शामिल हैं. 24 घंटे में कुल 16 नये मरीज शहर के अलग-अलग अस्पतालों के डेंगू वार्ड में भर्ती किये गये हैं, जबकि 27 लोग स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किये गये हैं. सिविल सर्जन कार्यालय के अनुसार 123 नये मरीजों के साथ डेंगू का आंकड़ा 5281 के पार पहुंच गया है.

डेंगू से बचाव के उपाय

  • घरों के आसपास पूर्ण साफ-सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित करें.

  • कचरे को अपने घर में इकट्ठा न होने दें, इसे उचित स्थान पर फेंके

  • घरों के कूलर, टैंक, ड्रम, बाल्टी आदि से पानी खाली करें व साफ रखें

  • कूलर का उपयोग नहीं होने की दशा में उसका पानी पूरी तरह खाली करें

  • टीन के डिब्बे, कांच एवं प्लास्टिक की बोतल, नारियल के खोल, पुराने टायर घर में न रखें

  • फ्रिज के 'ड्रिप-पैन' से पानी प्रतिदिन खाली करें.

  • पानी संग्रहित करने वाले टंकी, बाल्टी, टब आदि सभी को हमेशा ढंककर रखें.

  • घर में तथा आसपास साफ-सफाई अभियान के रूप में किए जाने के लिए लोगों को जागरूक किया जाए

आकड़ों में डेंगू

  • 2016- 845

  • 2017 - 1544

  • 2018 - 1578

  • 2019- 4905

  • 2020 - 243

  • 2021 - 353

  • 2022 - अब तक 5281