10 सितंबर से शुरू हुए पितृपक्ष 25 सितंबर को खत्म हो रहे हैं.

श्राद्ध के इन 16 दिनों में खूब श्रद्धा के साथ पितरों की पूजा और तर्पण किया जाता है. जिस दिन पितृपक्ष खत्म होते हैं उसी दिन महालया होती है. महालया मतलब ही नवरात्रि का आगाज होने जा रहा है. 25 सितंबर को दिन में महालया लग जाएगी, इसलिए इस दिन का खास महत्व है.

इसलिए खास है महालया

बंगाल में इस दिन का इंतजार हर कोई करता है क्योंकि इस दिन से ही देवी दुर्गा की  प्रतिमा को रंग चढ़ना, उनकी आंखें बनती हैं, उन्हें सजाया जाता है और मंडप में बिठाने की तैयारियां होने लगती है.

महालया का दुर्गा पूजा से संबंध

जैसा कि आप सभी को पता है कि आश्विन शुक्ल प्रतिपदा से नवरात्रि का प्रारंभ होता है. इसमें मां दुर्गा की पूजा करते हैं. लेकिन आपको जानना चाहिए कि नवरात्रि या दुर्गा पूजा के लिए जो मूर्तियां या प्रतिमाएं बनाई जाती हैं, उनमें आंखें महालया के दिन ही लगाते हैं. मूर्तिकार इस दिन मां दुर्गा की आंखें लगाते हैं और मूर्तियों को अंतिम रूप देते हैं. उसके बाद से दुर्गा प्रतिमाओं का साज शृंगार आदि होता है.

महालया का दुर्गा पूजा से संबंध

जैसा कि आप सभी को पता है कि आश्विन शुक्ल प्रतिपदा से नवरात्रि का प्रारंभ होता है. इसमें मां दुर्गा की पूजा करते हैं. लेकिन आपको जानना चाहिए कि नवरात्रि या दुर्गा पूजा के लिए जो मूर्तियां या प्रतिमाएं बनाई जाती हैं, उनमें आंखें महालया के दिन ही लगाते हैं. मूर्तिकार इस दिन मां दुर्गा की आंखें लगाते हैं और मूर्तियों को अंतिम रूप देते हैं. उसके बाद से दुर्गा प्रतिमाओं का साज श्रृंगार आदि होता है.

शारदीय नवरात्रि 2022 की तिथियां, दिन

नवरात्रि प्रथम दिन: प्रतिपदा तिथि, मां शैलपुत्री पूजा और घटस्थापना - 26 सितंबर 2022, दिन सोमवार
नवरात्रि दूसरा दिन: मां ब्रह्मचारिणी पूजा - 27 सितंबर 2022, दिन मंगलवार
नवरात्रि तीसरा दिन: मां चंद्रघण्टा पूजा - 28 सितंबर 2022 दिन, बुधवार
नवरात्रि चौथा दिन: मां कुष्माण्डा पूजा - 29 सितंबर 2022 दिन, गुरुवार
नवरात्रि पांचवां दिन: मां स्कंदमाता पूजा - 30 सितंबर 2022 दिन, शुक्रवार
नवरात्रि छठा दिन: मां कात्यायनी पूजा -01 अक्टूबर 2022 दिन, शनिवार
नवरात्रि सातवां दिन: मां कालरात्री पूजा - 02 अक्टूबर 2022 दिन, रविवार
नवरात्रि आठवां दिन (अष्टमी तिथि): मां महागौरी पूजा, 03 अक्टूबर 2022, दिन सोमवार (दुर्गा महाष्टमी)
नवरात्रि नवां दिन (नवमी तिथि): मां सिद्धरात्री पूजा, दुर्गा महानवमी पूजा - 04 अक्टूबर 2022 दिन मंगलवार
विजया दशमी तिथि (दशहरा): दुर्गा विसर्जन- 05 अक्टूबर 2022, दिन बुधवार