कोरोना से माता-पिता व अभिभावकों को खोने वाले बच्चों के बेहतर भविष्य और शिक्षा के लिए योगी सरकार लगातार मदद कर रही है. इसी कड़ी में प्रदेश की महिला कल्याण, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार मंत्री बेबी रानी मौर्य सोमवार को अलीगंज स्थित जिला पंचायतीराज मुख्यालय के प्रेक्षागृह में मुख्यमंत्री बाल सेवा योजनान्तर्गत के अन्तर्गत ऐसे बच्चों को लैपटॉप देंगी.

कोविड-19 के दौरान अपने माता-पिता व अभिभावकों को खोने वाले कक्षा-9 या उससे ऊपर के क्लास में पढ़ रहे 18 वर्ष तक की आयु के 200 बच्चों को लैपटॉप वितरित किया जाएगा. जिला प्रोबेशन अधिकारी विकास सिंह ने बताया कि कोविड-19 के दौरान अपने माता-पिता व अभिभावकों को खोने वाले बच्चों के लिए CM बाल सेवा योजना संचालित की जा रही है. इसके अन्तर्गत सोमवार को 200 लैपटॉप वितरण का कार्यक्रम आयोजित किया गया है.

कार्यक्रम में महिला कल्याण, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार मंत्री बेबी रानी मौर्य मुख्य अतिथि तथा महिला कल्याण, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार राज्यमंत्री प्रतिभा शुक्ला विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल होंगी.

कोविड का संकटकाल कई परिवारों पर कहर बन कर टूटा था. कई परिवारों के कमाने वाले सदस्य की जान कोविड में चली गई तो वहीं कई बच्चे अनाथ हो गए. 18 वर्ष से कम उम्र के ऐसे बच्चों की पढ़ाई जारी रहे और उनका भरण पोषण हो सके, इसके लिए यूपी सरकार ने उनकी जिम्मेदारी उठाने की पहल की है. इसके लिए CM बाल सेवा योजना का संचालन किया जा रहा है. योजना के तहत कोरोना के कारण माता पिता व अभिभावक को खोने वाले बच्चों को 4 हजार रुपये प्रतिमाह की सहायता भी दी जाती है.