ग्रामीण अर्थव्यवस्था के प्रमुख विशेषज्ञ और योजना आयोग के पूर्व सदस्य, अर्थशास्त्री प्रोफेसर अभिजीत सेन का 72 वर्ष की उम्र में एक लंबी बीमारी के बाद सोमवार रात निधन हो गया. इसकी जानकारी उनके भाई ने दी. उन्होंने अपने 4 दशकों से ज्यादा के अकादमिक करियर में कई बड़े नामी संस्थानों में पढ़ाया है.

अभिजीत सेन ने 1985 में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में पढ़ाया, यहां पर वह आर्थिक अध्ययन के बारे में पढ़ाते थे. इसके बाद उन्होंने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी, कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी और एसेक्स जैसे नामी शिक्षण संस्थानों में भी अपनी सेवाएं दीं. 2004-2014 तक वे योजना आयोग के सदस्य रहे और कृषि लागत और मूल्य आयोग, 1997-2000 के अध्यक्ष पद पर रहकर अपनी अमूल्य सेवाएं दीं.

अभिजीत सेन का जन्म नई दिल्ली में रहने वाले एक बंगाली परिवार में हुआ था. वह भौतिकी ऑनर्स की डिग्री के लिए सरदार पटेल विद्यालय और फिर सेंट स्टीफंस कॉलेज गए. उन्होंने 1981 में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में PHD की, जहां वे ट्रिनिटी हॉल के सदस्य थे.