हिंदू पक्ष के वकील हरिशंकर जैन और विष्णु जैन को ज्ञानवापी मामले से हटाया गया, जानिए वजह   

हिंदू पक्ष के वकील हरिशंकर जैन और विष्णु जैन को ज्ञानवापी मामले से हटाया गया, जानिए वजह

ज्ञानवापी मस्जिद मामले में कोर्ट में हिंदू पक्ष की पैरवी कर रहे पिता-पुत्र वकील हरिशंकर जैन और विष्णु जैन शंकर विश्व वेदिक सनातन संघ ने केस से बाहर कर दिया है। विश्व वेदिक सनातन संघ के अध्यक्ष जितेंद्र सिंह विसेन ने कहा कि हरिशंकर जैन और विष्णु शंकर जैन अब इस केस में हिंदू पक्ष की पैरवी नहीं करेंगे। हालांकि इसकी वजह नहीं बताई गई है। लेकिन जितेंद्र सिंह ने कहा कि हमने फैसला लिया है कि दोनों का वकालतनामा इस केस में खत्म कर दिया गया है। बता दें कि वीवीएसएस ने देश की अलग-अलग कोर्ट में 50 से अधिक मुकदमे दायर किए हैं, जिसमे से 7 केस ज्ञानवापी से संबंधित हैं। ऐसे में किसी भी केस में हरिशंकर और विष्णु वीवीएसएस की कोर्ट में पैरवी नहीं करेंगे।

बिसेन ने बताया कि मैं हरिशंकर जैन की अध्यक्षता में चल रही हिंद साम्राज्य पार्टी में राष्ट्रीय संयोजक और राष्ट्रीय महासचिव के पद पर था, जिससे मैंने इस्तीफा दे दिया है। हरिशंकर जैन और उनके बेटे विष्णु जैन ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी मामले की पैरवी कर रहे थे। इसके साथ ही पिता और पुत्र की यह जोड़ी हिंदुओं से जुड़े कई मुकदमों की पैरवी कर रही है। विष्णु जैन ने इस मामले पर पूछे जाने पर कहा कि ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी मामले में पांच महिलाएं वादी हैं। उनमें से एक वादी और जितेंद्र सिंह बिसेन की भतीजी रेखा सिंह के पैरवी से हटने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

Share this story