नीरज चोपड़ा के अमेरिका के यूजीन में विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने के बाद उनके पानीपत जिले में स्थित गांव में जश्न का माहौल है.

हरियाणा में पानीपत के पास खंडरा गांव के एक किसान के बेटे 24 वर्षीय चोपड़ा विश्व चैंपियनशिप में पदक जीतने वाले केवल दूसरे भारतीय और पहले पुरुष एथलीट बन गये हैं.

सीएम मनोहर लाल खट्टर ने चोपड़ा को दी बधाई

ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट चोपड़ा और उनके परिवार को सुबह से ही बधाइयां मिल रही हैं. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने भी चोपड़ा को बधाई दी है.

महिलाों में जश्न का है माहौल

टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड जीतने वाले चोपड़ा के गांव की महिलाओं में जश्न का माहौल है. महिलाएं खुशी में गीत गा रही हैं. साथ ही नृत्य भी कर रही हैं. चोपड़ा का परिवार मेहमानों के स्वागत करने और लड्डू बांटने में व्यस्त रहा.

चाचा ने ही चोपड़ा के करियर को संवारा

चाचा भीम चोपड़ा ने ही नीरज के करियर को संवारा है. नीरज बचपन से ही चाचा से भाला फेंक की ट्रेनिंग लेते रहे हैं. चाचा चोपड़ा का कहना है कि हर कोई गर्व महसूस कर रहा है. यह पदक भी ओलंपिक स्तर का है, इसलिए यह बहुत बड़ी उपलब्धि है. भीम ने कहा कि पूरा देश खुश है और उन्हें नीरज की उपलब्धि पर गर्व है.