पर्थ में खेले जा रहे वर्ल्ड कप मुक़ाबले में डन मार्करम और डेविड मिलर के बीच साझेदारी ने दक्षिण अफ़्रीका को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया है. भारत ने दक्षिण अफ़्रीका को 134 रन की चुनौती दी है.

मार्करम हाफ सेंचुरी पूरी कर चुके हैं. तीन विकेट सस्ते में गंवाने के बाद अफ़्रीकी टीम मुश्किल में दिख रही थी लेकिन एडन मार्कम और डेविड मिलर ने खेल का रुख बदल दिया. भारत की लचर फ़ील्डिंग ने भी टीम की मुश्किलें बढ़ाई.

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने दूसरे ओवर में अर्शदीप सिंह को गेंद थमाई. उन्होंने पहली गेंद पर क्विंटन डि कॉक (1 रन) को स्लिप में खड़े केएल राहुल के हाथों कैच करा दिया.

ओवर की तीसरी गेंद पर फॉर्म में चल रहे राइली रोसो (शून्य) अर्शदीप का शिकार बने. गेंद उनके पैड से टकराई थी. अंपायर ने अर्शदीप की अपील ठुकरा दी थी लेकिन कप्तान रोहित शर्मा ने विकेट कीपर दिनेश कार्तिक की सलाह पर रिव्यू लिया और अंपायर को फ़ैसला बदलना पड़ा. दूसरा विकेट गिरा तो दक्षिण अफ़्रीका का स्कोर था तीन रन.

इसके बाद अफ़्रीकी कप्तान टेम्बा बावुमा और एडन मार्करम पारी संभालने में जुट गए. मार्करम ने चौथे ओवर में चौका जड़ा तो बावुमा ने पांचवें ओवर में भुवनेश्वर कुमार की आखिरी गेंद को विकेट कीपर के सिर के ऊपर से छह रन के लिए भेज दिया.

लेकिन बावुमा ज़्यादा नहीं टिके. छठे ओवर में मोहम्मद शमी ने उन्हें दिनेश कार्तिक के हाथों कैच करा दिया. बावुमा ने 15 गेंद पर 10 रन बनाए. तीसरा विकेट गिरा तो दक्षिण अफ़्रीका का स्कोर था 24 रन.

मार्करम का साथ निभाने के लिए डेविड मिलर क्रीज़ पर आए. नवें ओवर की पांचवीं गेंद पर मार्करम और मिलर के बीच रन लेने को लेकर ग़लतफहमी हुई लेकिन भारतीय टीम मौका नहीं भुना सकी.

रोहित शर्मा का थ्रो विकेट पर लगता तो मार्करम आउट हो सकते थे. 10 ओवर के बाद दक्षिण अफ़्रीका का स्कोर था तीन विकेट पर 40 रन.

ड्रिंक्स ब्रेक के बाद अफ़्रीकी बल्लेबाज़ भारतीय गेंदबाज़ों को निशाने पर लेने का इरादा बनाकर आए. हार्दिक पांड्या के 11वें ओवर में अफ़्रीकी टीम के खाते में 16 रन दर्ज हुए. इनमें से मार्करम और मिलर के बल्ले से एक एक चौका निकला.

12वें ओवर में विराट कोहली ने आर अश्विन की गेंद पर मार्करम का कैच टपका दिया. मार्करम तब 35 रन पर थे. 13वें ओवर में रोहित शर्मा ने रनआउट करने का मौका गंवाया.

अगले ओवर में मिलर ने हाथ खोले और अश्विन की गेंद पर छक्का जड़ दिया. ओवर की आखिरी गेंद पर मार्करम ने छक्का जमाया. अश्विन के इस ओवर में 17 रन बने.

इसके पहले भारत के टॉप स्कोरर सूर्यकुमार यादव रहे. उन्होंने 40 गेंद पर 68 रन बनाए. उन्होंने अपनी पारी में छह चौके और दो छक्के जमाए.

सूर्यकुमार यादव ने ये पारी उस वक़्त की खेली जब भारत के दूसरे सभी दिग्गज बल्लेबाज़ दक्षिण अफ़्रीका की तेज़ गेंदबाजी आगे लाचार नज़र आ रहे थे.

पर्थ की तेज़ पिच पर भारत के टॉप आर्डर ने दक्षिण अफ़्रीका के तेज़ गेंदबाज़ लुंगी एनगिडी के आगे सरेंडर कर दिया.

एनगिडी ने कप्तान रोहित शर्मा (15 रन), ओपनर केएल राहुल (नौ रन), विराट कोहली (12 रन) और हार्दिक पांड्या (दो रन) के विकेट लिए. दक्षिण अफ़्रीकी टीम ने उन्हें तबरेज़ शम्सी की जगह प्लेइंग इलेवन में शामिल किया था.

एनगिडी ने 29 रन देकर चार विकेट लिए. वेन पार्नेल ने 15 रन देकर तीन विकेट लिए.

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर बल्लेबाज़ी का फ़ैसला किया. वो और दूसरे ओपनर केएल राहुल पहले चार ओवर में विकेट बचाने में कामयाब रहे.

रोहित ने दूसरे ओवर में कगिसो रबाडा और राहुल ने तीसरे ओवर में वेन पार्नेल की गेंद पर छक्का जमाकर खाता खोला. चार ओवर के बाद भारत का स्कोर था बिना नुक़सान 21 रन

नहीं चले दिग्गज बल्लेबाज़

दक्षिण अफ़्रीका के कप्तान टेम्बा बवुमा ने पांचवें ओवर में गेंद लुंगी एनगिडी को थमाई और खेल बदलने लगा. एनगिडी ने दूसरी ही गेंद पर भारतीय कप्तान रोहित शर्मा को पैवेलियन भेज दिया. रोहित ने 14 गेंद में एक चौके और एक छक्के की मदद से 15 रन बनाए.

भारत को पहला झटका 23 रन के स्कोर पर लगा. एनगिडी ने ओवर की आखिरी गेंद पर दूसरे ओपनर केएल राहुल को एडन मार्करम के हाथों कैच करा दिया. राहुल 14 गेंद में नौ रन बना सके. दूसरा विकेट गिरा तो भारत का स्कोर था 26 रन.

सातवें ओवर में एनगिडी ने भारत को एक और ज़ोरदार झटका दिया. उन्होंने फॉर्म में चल रहे विराट कोहली को पैवेलियन भेज दिया. लुंगी एनगिडी की पहली दो गेंदों पर विराट कोहली ने दो चौके जमाए लेकिन ओवर की पांचवीं गेंद पर वो फ़ाइन लेग पर रबाडा को कैच थमा बैठे.

अगले ओवर में एनरिख नोकिया ने दीपक हुड्डा को पैवेलियन भेज दिया. वो खाता भी नहीं खोल पाए. इसी ओवर में सूर्यकुमार यादव भी पैवेलियन लौट सकते थे लेकिन गेंद स्लिप में खड़े एडन मार्करम की उंगलियों को छूते हुए बाउंड्री के बाहर चली गई.

भारत को पांचवां झटका नवें ओवर में एनगिडी ने दिया. उन्होंने हार्दिक पांड्या को रबाडा के हाथों कैच कराया. हार्दिक पांड्या सिर्फ़ दो रन बना सके. पांचवा विकेट गिरा तो भारत के खाते में 49 रन ही जुड़े थे. भारत ने 25 गेंद में 26 रन जोड़कर पांच विकेट गंवा दिए थे.

सूर्य की चमक

टीम जब बड़ी मुश्किल में दिख रही थी तब सूर्यकुमार यादव और दिनेश कार्तिक ने मोर्चा संभाला. इन दोनों के सामने विकेट बचाने के साथ स्कोर बोर्ड पर रन दर्ज करने की चुनौती थी. दस ओवर के बाद भारत का स्कोर था पांच विकेट पर साठ रन.

दसवें ओवर में नोकिया की गेंद पर छक्का जमाने वाले सूर्यकुमार यादव ने 11वें ओवर में केशव महाराज का स्वागत चौका जमाकर किया. महाराज के दूसरे ओवर में सूर्यकुमार यादव ने छक्का जड़ा. इस ओवर में भारत ने 11 रन जुटाए.

हालात मुश्किल थे लेकिन सूर्यकुमार यादव बल्लेबाज़ी का क्लास दिखा रहे थे. 15वें ओवर में सूर्यकुमार ने एनगिडी की पहली गेंद को फाइन लेग पर पुल किया और छह रन बटोरे. ओवर की चौथी गेंद पर चौका जमाकर उन्होंने अपनी हाफ़ सेंचुरी पूरी कर ली. 50 रन तक पहुंचने में उन्होंने सिर्फ़ तीस गेंद खेलीं.

एनगिडी के इस ओवर में भारत के सौ रन भी पूरे हो गए. 15 ओवर के बाद भारत का स्कोर था पांच विकेट पर 101 रन.

16वें ओवर में वेन पार्नेल ने दिनेश कार्तिक को पैवेलियन भेज दिया. उन्होंने 15 गेंद में छह रन बनाए. कार्तिक और सूर्यकुमार के बीच 40 गेंद पर 52 रन की साझेदारी हुई.

कार्तिक की विदाई के बाद भी सूर्यकुमार यादव रुकने को तैयार नहीं थे. वो लड़ाई को अकेले जारी रखे हुए थे. 17वें ओवर में महाराज की पांचवीं और छठी गेंद पर लगातार चौके जमाए.

18वें ओवर में उन्होंने रबाडा की चौथी गेंद को बाउंड्री के बाहर भेजा. पार्नेल ने 19वें ओवर में भारत को एक और झटका दिया. आर अश्विन रबाडा को कैच थमा गए. उन्होंने सात रन बनाए.

सूर्यकुमार यादव की पारी पर पार्नेल ने ब्रेक लगाया. वो 19वें ओवर में आउट हुए. उस समय भारत का स्कोर था 127 रन. आखिरी ओवर में शमी रन आउट हो गए. वो खाता भी नहीं खोल सके.

अर्शदीप ने आखिरी गेंद पर दो रन बनाए और भारतीय टीम 133 के स्कोर तक पहुंचने में कामयाब रही