पर्थ में रविवार को बल्लेबाजों की काबिलियत का बेहतरीन इम्तेहान हुआ और साउथ अफ्रीका ने इस बाजी को जीतने के साथ ही मैच भी अपने नाम कर लिया. T20 विश्व कप में शानदार शुरुआत करने वाली भारतीय टीम को टूर्नामेंट में पहली हार का सामना करना पड़ा.

लुंगी एनगिडी के शुरुआती घातक स्पैल और फिर डेविड मिलर और एडन मार्करम की जुझारू पारियों के दम पर साउथ अफ्रीका ने भारत को 5 विकेट से हराया.

पर्थ के ऑप्टस स्टेडियम में जैसी उम्मीद थी, बिल्कुल वही नजारा देखने को मिला. इस मैच की शुरुआत से पहले ही दावा किया जा रहा था, अनुमान जताया जा रहा था कि तेज गेंदबाजों के सामने बल्लेबाजों के लिए टिकना किसी पहाड़ चढ़ने से कम नहीं होगा. यही हुआ भी और दोनों टीमों के गेंदबाजों ने ऐसा करके दिखाया. भारत की ओर से सिर्फ सूर्यकुमार यादव ने जलवा दिखाया और साउथ अफ्रीका की ओर से एडन मार्करम और डेविड मिलर ने ही डटकर सामना किया और यही अंतर साबित हुआ.

अर्शदीप सिंह ने बरपाया कहर

अपने चार पेसरों के दम पर भारत को सिर्फ 133 रन पर समेटने के बावजूद साउथ अफ्रीकी टीम को इतना अंदाजा रहा होगा कि ये लक्ष्य हासिल करना भी आसान नहीं होने वाला. खास तौर पर हाल ही में भारत दौरे पर उसे टीम इंडिया के पेसरों के सामने मुश्किलों का सामना करना पड़ा था और उनका डर सही भी साबित हुआ. दूसरे ही ओवर में अर्शदीप सिंह ने क्विंटन डिकॉक और राइली रूसो के विकेट चटका दिए. पावरप्ले के आखिरी ओवर में सिर्फ 24 के स्कोर तक 3 विकेट गिर गए.

डेविड मिलर और एडन मार्करम बने बाधा

अर्शदीप के अलावा भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी भी साउथ अफ्रीकी बल्लेबाजों पर कहर बरपा रहे थे. ऐसे में साउथ अफ्रीका को एक साझेदारी की जरूरत थी और मार्करम ने डेविड मिलर के साथ मिलकर भारतीय गेंदबाजों का डटकर सामना किया. हालांकि, भारत ने भी उन्हें कई मौके दिए. अश्विन की गेंद पर विराट कोहली ने मार्करम का बेहद आसान कैच टपका दिया. वहीं रोहित और सूर्यकुमार यादव ने रन आउट के आसान मौके छोड़ दिए.

लुंगी एनगिडी​​​​​​​ बने बल्लेबाजों के काल

भारतीय पारी की बात करें, तो इसका हाल बिल्कुल वैसा ही हुआ, जैसे पिछले रविवार को मेलबर्न में पाकिस्तान के खिलाफ हुआ था. लुंगी एनगिडी के एक खतरनाक स्पैल ने पावरप्ले में ही टीम इंडिया की धज्जियां उड़ा दीं. एनगिडी ने ऑप्टस स्टेडियम की पिच के उछाल का बेहतरीन इस्तेमाल किया और रोहित शर्मा, विराट कोहली, केएल राहुल को शॉर्ट गेंदों के जाल में फंसा दिया. 9वें ओवर तक सिर्फ 49 रन पर भारत के 5 विकेट गिर गए थे.