भारत  वेस्टइंडीज के बीच 5 मैचों की टी20 सीरीज के पहले मुकाबले में भारतीय टीम ने शानदार जीत दर्ज की.

भारत ने वेस्टइंडीज को 69 रनों के अंतर से हराया. अगस्त के अंत में एशिया कप अक्टूबर में होने वाले टी20 वर्ल्ड  से पहले भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा को आक्रामक बल्लेबाजी के रणनीति के चलते अगर कुछ असफलता भी हाथ लगती है तो उन्हें मंजूर है.

मैच के प्रेज़ेनटेशन के दौरान रोहित शर्मा ने कहा, 'हम पहले छह ओवर, उसके बाद मिडिल ओवर फिर पारी की समाप्ति में एक रणनीति के तहत बल्लेबाज़ी करना चाहते हैं. यह गेम के 3 पहलू हैं जहां हम हर खिलाड़ी से विशेष भूमिका की उम्मीद रखते हैं. आज हमने ऐसा किया सफल रहे लेकिन ऐसा हर बार नहीं होगा. इस काम में एक-आध असफलता भी हमारे हाथ लगेगी लेकिन यह ठीक है.'

रोहित शर्मा ने अपने बल्लेबाजों को मुश्किल पिचों पर भी खेलने की सलाह दी है. उनका मानना है कि कुछ पिचों पर आज आक्रामक हो कर बल्लेबाजी नहीं कर सकते हैं.

'हमें समझना होगा कि हम कैसे पिच पर खेल रहे हैं. कुछ पिचों पर आप इतनी आक्रामक बल्लेबाजी नहीं कर सकते हैं ऐसे में आप को अपने कौशल पर भरोसा जताते हुए धैर्य के साथ काम लेना होगा. हमारे प्लेयर्स हर तरह की पिचों पर खेलने के आदी हैं वह मिडिल ओवरों में कुशलता के साथ खेल सकते हैं.'

दिनेश कार्तिक ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए भारत की लड़खड़ाती पारी 190 तक पहुंचाया. रोहित शर्मा के अनुसार पारी के दौरान ऐसा लगा नहीं था कि भारत इतने बड़े स्कोर पर पहुंच पाएगा.

रोहित ने कहा, 'हमें पता था यह पिच आसान नहीं. शुरुआत से ही शॉट लगाना मुश्किल था स्पिनरों के लिए मदद होने की वजह से बहुत ज़रूरी था कि सेट बल्लेबाज़ देर तक खेल सके. ऐसे में 190 तक जाना एक बहुत प्रशंसनीय प्रयास था क्योंकि जब हमने पहले 10 ओवर खेल लिए थे, तब मुझे ऐसा लग नहीं रहा था कि इस पिच पर 170-180 तक भी बनेंगे. हमने मेहनत की, क्रीज पर डटे रहे अपने कौशल के आधार पर एक बड़ा लक्ष्य रखा जो विरोधी टीम के लिए बहुत बड़ी चुनौती साबित हुई.'