T20 World Cup 2022:  ऑस्ट्रेलिया में हो रहे टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में अपनी जगह बना ली है.

पिछले साल भारतीय टीम ग्रुप राउंड में ही बाहर हो गई थी. फिर कप्तानी संभालने वाले रोहित शर्मा ने सभी उम्मीदों को सही साबित करते हुए टीम को खिताब के करीब पहुंचा दिया है. टीम की इस सफलता में कुछ खिलाड़ियों को खास योगदान है और इसमें सूर्यकुमार यादव खास हैं, जिनकी तारीफ में कप्तान रोहित शर्मा ने बड़ी बातें कही हैं.

ऑस्ट्रेलिया में विश्व कप शुरू होने से पहले टीम इंडिया की सफलता के लिए सूर्यकुमार यादव के प्रदर्शन को अहम माना जा रहा था. मौजूदा समय में सबसे बेहतरीन फॉर्म में चल रहे बल्लेबाज सूर्या ने इसे सही साबित भी किया. स्टार बल्लेबाज ने टूर्नामेंट में तीसरा अर्धशतक जमाते हुए भारत को सेमीफाइनल में पहुंचाने में बड़ी भूमिका निभाई. सूर्या ने जिम्बाब्वे के खिलाफ आखिरी ग्रुप मैच में सिर्फ गेंदों में नाबाद 61 रन बनाए.

सूर्या की बैटिंग से डग आउट में सुकून

सूर्या की इस जोरदार पारी ने भारत को ये मैच जिताया और जाहिर तौर पर ऐस में कप्तान रोहित उनकी तारीफ करने से नहीं चूके. भारतीय कप्तान ने कहा कि सूर्या जब क्रीज पर रहते हैं, तो डग आउट में सभी लोग सुकून से रह सकते हैं. उन्होंने कहा,

जब वह बल्लेबाजी कर रहे होते हैं तो डगआउट में सहज होकर रहा जा सकता है. जब वह बल्लेबाजी करते हैं तो काफी संयम के साथ खेलते हैं.

विराट कोहली के बाद इस विश्वकप में सूर्यकुमार भारत के लिए सबसे ज्यादा 225 रन बना चुके हैं. सिर्फ रन ही नहीं, बल्कि अपनी बैटिंग के अंदाज और हैरतअंगेज शॉट्स से सबको अपना कायल बना चुके हैं. रोहित ने इस बारे में कहा, सूर्यकुमार जो टीम के लिए कर रहे हैं वह असाधारण है. वह क्रीज पर उतरते ही अपना नैसर्गिक खेल खेलना शुरू करते है और दूसरे खिलाड़ियों पर से दबाव हटाते हैं. हम उनकी योग्यता से अच्छी तरह वाकिफ हैं और उसके क्रीज पर रहने से दूसरे छोर का बल्लेबाज सहज होकर खेल सकते हैं.

सूर्यकुमार यादव ने टी20 विश्व कप में अपना तीसरा अर्धशतक जमाया.

सूर्या का शानदार प्रदर्शन

जिम्बाब्वे के खिलाफ सिर्फ 101 रन पर 4 विकेट गंवाने वाली भारतीय टीम ने सूर्यकुमार की 25 गेंदों पर नाबाद 61 रन की पारी के दम पर पांच विकेट पर 186 रन बनाए. जिंबाब्वे की टीम इसके जवाब में 17.2 ओवर में 115 रन पर आउट हो गईं. सूर्या का विश्व कप में ये तीसरा अर्धशतक था और इसके साथ ही उन्होंने इस साल टी20 विश्व कप में अपने एक हजार रन भी पूरे कर लिए. ऐसा करने वाले वह भारत के पहले और दुनिया के सिर्फ दूसरे बल्लेबाज हैं.