भारत मंगलवार से आस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरू होने वाली तीन T20 मैचों की सीरीज में सबसे छोटे प्रारूप के विश्व कप से पहले अपने उचित संयोजन विशेषकर मध्यक्रम से जुड़े मसले को सुलझाने का प्रयास करेगा.

विश्व कप से पहले होने वाले 6 मैचों में कुछ तेज गेंदबाजों को भले ही विश्राम दिया गया है, लेकिन इसे छोड़ कर भारत अपनी मजबूत टीम के साथ ही उतर रहा है. ऑस्ट्रेलिया के बाद भारत तीन मैचों के लिए दक्षिण अफ्रीका की मेजबानी करेगा. टी-20 प्रारूप में लचीलापन बनाये रखना महत्वपूर्ण होता, लेकिन कप्तान रोहित शर्मा पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि ऑस्ट्रेलिया में होने वाली आइसीसी प्रतियोगिता से पहले उनके खिलाड़ी सभी सवालों का जवाब ढूंढ़ने का प्रयास करेंगे. भारत ने भले की एशिया कप में अच्छी बल्लेबाजी की, लेकिन उसने इस दौरान कई बदलाव भी किये.

बुमराह के लौटने से गेंदबाजी में मजबूती

एशिया कप में भारत की गेंदबाजी की कमजोरियां सामने आयी थीं, लेकिन हर्षल पटेल और जसप्रीत बुमराह की वापसी से आक्रमण को मजबूती मिली है. भारत को 5 गेंदबाजों के साथ खेलने के लिए मजबूर होना पड़ा और उसके पास गेंदबाजी में छठा विकल्प नहीं था. अगर भारत हार्दिक पंड्या और जडेजा की जगह लिए गए अक्षर पटेल को अंतिम एकादश में रखता है, तो उसके पास अतिरिक्त गेंदबाजी विकल्प होगा. बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, हर्षल और हार्दिक के तेज गेंदबाजी आक्रमण के साथ अक्षर और युजवेंद्र चहल के रूप में दो स्पिनर हो सकते हैं.

विराट फिर कर सकते हैं ओपनिंग

रोहित ने साफ कर दिया कि विश्व कप में उनके साथ केएल राहुल ही पारी का आगाज करेंगे, लेकिन यहां संभावना है कि उनके साथ विराट कोहली पारी की शुरुआत करने के लिए उतरें. अपनी पिछली टी-20 पारी में शतक जड़ने वाले कोहली को सलामी बल्लेबाज के रूप में उतारा जा सकता है.

फॉर्म हासिल करना चाहेंगे फिंच

दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलिया डेविड वार्नर सहित कुछ प्रमुख खिलाड़ियों के बिना भारत आया है. वॉर्नर को विश्राम दिया गया है, जबकि मिचेल स्टार्क, मार्कस स्टोइनिस और मिचेल मार्श को चोटों से उबरने का समय दिया गया है. सभी का ध्यान कप्तान आरोन फिंच पर होगा, जिन्होंने लगातार लचर प्रदर्शन के कारण हाल में वनडे से संन्यास ले लिया था.

पंत को मिल सकती है प्राथमिकता

भारतीय बल्लेबाजी क्रम में चोटी के चार बल्लेबाज तय हैं, लेकिन अभी यह तय नहीं है कि अंतिम एकादश में विकेटकीपर के रूप में रिषभ पंत को चुना जायेगा या दिनेश कार्तिक को. रवींद्र जडेजा के चोटिल होने के कारण भारत पंत को बायें हाथ का बल्लेबाज होने के कारण कार्तिक पर तरजीह दे सकता है. उन्हें एशिया कप में बल्लेबाजी का बमुश्किल मौका मिला था, लेकिन टीम प्रबंधन अगले दो सप्ताह में उन्हें क्रीज पर कुछ समय बिताने का अवसर दे सकता है.

भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल (उप कप्तान), विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, दीपक हुड्डा, रिषभ पंत, दिनेश कार्तिक, हार्दिक पंड्या, रविचंद्रन अश्विन, युजवेंद्र चहल, अक्षर पटेल, भुवनेश्वर कुमार, हर्षल पटेल, दीपक चाहर, जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव.

ऑस्ट्रेलिया : सीन एबॉट, एश्टन एगर, पैट कमिंस, टिम डेविड, नाथन एलिस, आरोन फिंच (कप्तान), कैमरन ग्रीन, जोश हेजलवुड, जोश इंगलिस, ग्लेन मैक्सवेल, केन रिचर्डसन, डेनियल सैम्स, स्टीव स्मिथ, मैथ्यू वेड, एडम ज़म्पा.