भारत जोड़ो यात्रा महाराष्ट्र चरण का समापन हो गया है. इस यात्रा से राहुल गांधी का एक परिपक्व चेहरा सामने आया है.

कांग्रेस नेताओं का कहना है कि इसका चुनावी फायदा दिखने में थोड़ा और वक्त लगेगा. राहुल गांधी ने अपने बचपन का एक किस्सा सुनाते हुए कहा कि एक बार उन्होंने अपनी मां सोनिया गांधी से पूछा था कि क्या वह दिखने में सुंदर हैं, इस पर उनका जवाब था -नहीं , ठीकठाक हो.

भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने एक इंटरव्यू में अपने बचपन के इस किस्से को साझा करते हुए कहा, जब मैं बच्चा था, तब मैंने अपनी मां के पास जाकर उनसे पूछा कि मम्मी, क्या मैं सुंदर दिखता हूं? मां ने मेरी तरफ देखा और कहा कि नहीं, तुम ठीकठाक दिखते हो. राहुल गांधी ने कहा, मेरी मां ऐसी ही हैं. वो तुरंत आईना दिखा देती हैं. मेरे पिता भी ऐसे ही थे. मेरा पूरा परिवार ऐसा है. यदि आप कुछ कहते हैं, तो वे आपका सच्चाई से सामना करा देते हैं.

कौन खरीदता है राहुल गांधी के लिए जूते?

अपने जीवन और जीवनशैली के बारे में राहुल गांधी ने कहा कि वह अपने लिए जूते खरीदते हैं लेकिन कभी-कभी उनकी मां और बहन भी उन्हें जूते भेजती हैं. उन्होंने कहा, मेरे कुछ नेता मित्र भी मुझे जूते उपहार में देते हैं. यह पूछे जाने पर कि क्या भाजपा से कोई उन्हें जूते भेजता है, गांधी ने कहा, वे इन्हें मुझ पर फेंकते हैं.गांधी ने साक्षात्कार का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, ईश्वर के बारे में, भारत के विचार समेत और भी बहुत कुछ. भारत जोड़ों यात्रा के दौरान एकदम स्पष्ट और शानदार बातचीत.

यात्रा का महाराष्ट्र चरण समाप्त

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा के महाराष्ट्र चरण के समापन पर रविवार को कहा कि उनका अनुभव बहुत समृद्धकारी रहा. पार्टी ने कहा कि इस यात्रा को चुनावी सफलता में तब्दील होने में थोड़ा वक्त लगेगा. कांग्रेस ने कहा कि यह यात्रा राष्ट्रीय राजनीति एवं पार्टी के लिए क्रांतिकारी पल है. इससे पहले दिन में गांधी ने नरेंद्र मोदी सरकार पर पंचायतों एवं अनुसूचित इलाकों का विस्तार अधिनियम (पीईएसए ऐक्ट), वन अधिकार कानून, भूमि अधिकार, पंचायत राज कानून और स्थानीय निकायों में महिलाओं के लिए आरक्षण जैसे कानूनों को कमजोर करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि सत्ता में आने पर कांग्रेस इन कानूनों को और मजबूत बनाएगी.

23 नवंबर से एमपी की ओर बढ़ेगी यात्रा

यात्रा महाराष्ट्र में 21 और 22 नवंबर को रुकी रहेगी और 23 नवंबर को मध्य प्रदेश की ओर बढ़ेगी. कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा कि महिलाएं, युवक और किसान यात्रा के मुख्य भागीदार हैं. उन्होंने दावा किया कि यात्रा ने एक प्रेरक संदेश दिया है और एक नयी कांग्रेस उभर रही है. रमेश ने यात्रा के लिए अत्यधिक अच्छी व्यवस्था करने को लेकर कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई के नेतृत्व का शुक्रिया अदा किया. यात्रा के लिए महाराष्ट्र समन्वयक बालासाहेब थोराट ने कहा कि यात्रा के तहत राज्य में 380 किमी से अधिक की दूरी तय की गई है.