संवाददाता अंकित कुमार 

Narayanpur: छत्तीसगढ़ के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र बस्तर संभाग के नारायणपुर जिले में हुई चर्च तोड़फोड़ मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने एसपी समेत अन्य पुलिस जवानों पर हमला करने वाले 6 आरोपियों को को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तारी के बाद सभी आरोपियों को न्यायिक रिमांड पर जेल भेजा गया है। गौरतलब है कि इस प्रकरण में भाजपा के जिला अध्यक्ष समेत 5 लोगों को पहले ही गिरफ्तार करके जेल भेजा जा चुका है। इस प्रकार पुलिस ने चर्च तोड़फोड़ प्रकरण में अब तक 11 आरोपियों पर कार्रवाई की है।

नारायणपुर चर्च तोड़फोड़ प्रकरण में पुलिस सख्ती बरत रही है। सीसीटीवी फुटेज समेत अन्य वायरल वीडियो के आधार पर पुलिस ने निरंजन करंगा (22), रमेश पोटाई (35), सुकमन नेताम (22), लहरू राम नेताम (33), मंगउ राम कावड़े (32) और राजु राम दुग्गा (32) को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं बताया जा रहा है की इस मामले में कई अन्य गिरफ्तारियां हो सकती हैं।

गौरतलब है कि नारायणपुर ऐड़का थाना के गोर्रा गांव में 1 जनवरी को धर्मांतरण के मामले में आदिवासी समुदाय के दो पक्षों के बीच जमकर विवाद हुआ था। घटना के तत्काल बाद पुलिस बल ने घटना स्थल पर पहुंचकर विवाद शांत करवाने का प्रयास किया,तो ग्रामीणों ने पुलिस बल पर ही हमला कर दिया था। घटना के अगले दिन 2 जनवरी को चर्च में तोड़फोड़ हुई,इस दौरान भीड़ नेएसपी समेत अन्य पुलिसकर्मियों पर हमला बोल दिया था।

इधर पुलिस और जिला प्रशासन ने आदेश जारी करके कहा है कि नारायणपुर की घटना के संबंध में यदि कोई व्यक्ति सोशल मीडिया में भ्रामक पोस्ट साझा करता है तो उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि फ़िलहाल नारायणपुर में हालात नियंत्रण में हैं.

नारायणपुर चर्च तोड़फोड़ प्रकरण में पुलिस सख्ती बरत रही है। सीसीटीवी फुटेज समेत अन्य वायरल वीडियो के आधार पर पुलिस ने निरंजन करंगा (22), रमेश पोटाई (35), सुकमन नेताम (22), लहरू राम नेताम (33), मंगउ राम कावड़े (32) और राजु राम दुग्गा (32) को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं बताया जा रहा है की इस मामले में कई अन्य गिरफ्तारियां हो सकती हैं।