छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में शुक्रवार को भाजपा की तरफ से भूपेश बघेल सरकार के खिलाफ आयोजित महतारी हुंकार रैली में केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी शामिल हुई।

महिला सुरक्षा और उनसे जुड़े अन्य मुद्दों को लेकर आयोजित इस रैली में स्मृति ईरानी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी और सोनिया गांधी पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि जनता की तिजोरी लूटकर कांग्रेस का खजाना भरा जा रहा है। छत्तीसगढ़ में महिलाओं के साथ भूपेश राज में 6 हजार बलात्कार के मामले हुए हैं। इन्हें शर्म आना चाहिए। जब बलात्कार पीड़ित आत्महत्या कर ले, तब यहां रिपोर्ट दर्ज होती है।

कांग्रेस की जमानत जब्त करेंगे: स्मृति ईरानी

केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि अमेठी की बेटी, छत्तीसगढ़ महतारी और उनकी बेटियों को प्रणाम करने आई है। मां महामाया की धरती में वीरांगना बिलासा को प्रणाम करती हूं। उन्होंने सवाल किया कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार कौन चला रहा है सोनिया या सौम्या? स्मृति ईरानी ने रेलवे के मामले में कांग्रेस द्वारा लगाये आरोप के जवाब में कहा कि भूपेश बघेल का होम वर्क राहुल गांधी की तरह कच्चा हो गया है। केवल बिलासपुर रेलवे को 9 हजार करोड़ मोदी जी ने दिया है, सोनिया ने नहीं। उन्होंने कहा कि अमेठी में प्रचार करने भूपेश जी भी गए थे अगर आज भूपेश जी तक मेरी बात जा रही है तो सुन लें कि अमेठी में कांग्रेस पार्टी के गढ़ में जब हमने कांग्रेस की जमानत जब्त करा दी तो यह समझ लें कि हम दुश्मन के घर में घुसकर हमला करते हैं। उन्होंने ए फॉर अमेठी, बी फॉर बिलासपुर, सी फॉर छत्तीसगढ़ का नारा बुलंद करते हुए कहा कि यहां भी कांग्रेस की जमानत जब्त करेंगे।

केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि मैं ये पूछना चाहती हूं कि कांग्रेस के राज में छत्तीसगढ़ की पावन भूमि पर 6 हजार बहनों की इज्जत क्यों लूटी गई? क्यों हजारों महिलाओं का अपहरण हुआ? छत्तीसगढ़ में कांग्रेस राज में बहनों के साथ गैंगरेप होता है, बहनें आत्महत्या करती हैं तब जाकर एफआईआर होती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को जनता की चिंता नहीं है। जनता की तिजोरी खाली करना उनका काम है।

भगवान का अपमान होने पर चुप क्यों हैं भूपेश बघेल: स्मृति ईरानी

केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि विपदा की घड़ी कोरोनाकाल में मोदी जी घर-घर अनाज पहुंचा रहे थे और भूपेश घर-घर दारू पहुंचा रहे थे। भाजपा ने जिंदगी का सामान बांटा और कांग्रेस ने मौत का। उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि जनता पूछ रही है कि छत्तीसगढ़ में राज किसका है, रिमोट कंट्रोल किसके हाथ में हैं? सोनिया जी के हाथ में है या सौम्या जी के हाथ में है? उन्होंने सवाल उठाया कि जनता का पैसा जनता के पास क्यों नहीं पहुंच रहा है?

अगर पहुंचता तो कांग्रेस राज के 4 साल में 25 हजार बच्चे इलाज के अभाव में नहीं मरते। कांग्रेस के नेतृत्व ने बच्चों के शरीर से प्राण छीन लिए। मुंह से निवाला छीना और गरीबों के सिर से छत छीन ली। उन्होंने कहा कि भूपेश जी धर्म का उपहास उड़ने पर भी सत्ता के लालच में आप मौन रहते हैं। आपके राज में क्यों नारे लग रहे हैं कि हम गौरी गणेश की पूजा नहीं करेंगे। इंसान से नहीं तो भगवान से तो डरो। उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से पूछा कि पोस्टर में भगवान राम के फोटो के साथ हाथ जोड़कर खड़े रहते हो लेकिन भगवान का अपमान होने पर चुप क्यों रहते हो?

महंगाई पर क्यों चुप है स्मृति ईरानी: कांग्रेस

इधर छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि विपक्ष रहते हुये स्मृति ईरानी महंगाई के खिलाफ खूब आंदोलन किया था गैस सिलेंडर लेकर सब्जियों की माला पहनकर फोटो खिचवाया था, जब सिलेंडर की कीमत 400 रू. था तब विरोध किया था। आज सिलेंडर के दाम 1150 रू. हो गया तब स्मृति ईरानी क्यों चुप है? जब आलू, प्याज की कीमत 14 रू. थी तब स्मृति ने उसकी माला पहनी थी, आज आलू, प्याज 40 रू. है स्मृति जी क्या अब भी आलू, प्याज की माला पहनेगी? जब खाद्य तेल, सरसों के तेल की कीमत, शक्कर, आटा, दालों की कीमत आज की अपेक्षा आधी थी तब स्मृति को महंगाई अधिक लग रही थी, आज देश में महंगाई की कीमत बेतहाशा बढ़ गयी स्मृति क्यों चुप है? कब मुखर होगी?