पप्पू यादव महागठबंधन में होंगे शामिल लालू यादव से मिलने के बाद चर्चा तेज हो गई है. कहा जा रहा है कि पप्पू यादव महागठबंधन में शामिल होने की जुगत में हैं.

इसलिए वह पहले लालू यादव और अब आरजेडी के दूसरे नेताओं से मिल रहे हैं.लालू यादव से मिलने के बाद पप्पू यादव दिल्ली के बिहार निवास में अब्दुल बारी सिद्दीकी और भोला यादव समेत कई वरिष्ठ नेताओं से मिले. दरअसल लालू यादव किडनी ट्रांसप्लांट के लिए सिंगापुर जाना है, उससे पहले ही पप्पू यादव उनसे मिलने के लिए दिल्ली पहुंच गये. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से मिलकर उनके स्वास्थ्य के बारे में जाना और जल्द स्वस्थ होने की कामना भी की.

इससे पहले पप्पू यादव जुलाई में भी लालू यादव से मिलने AIIMS पहुंचे थे.तब मुलाकात के बाद पप्पू यादव ने कहा था किसी ने कल्पना नहीं की होगी की लालू प्रसाद ऐसी हालत में पहुंचेंगे लेकिन समय और परिस्थितियां कभी-कभी परेशानी का सबब बन जाती हैं। उन्होंने लालू प्रसाद के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना की थी.

लालू यादव-नीतीश तय करेंगे वापसी

वहीं महागठबंधन में शामिल होने पर पप्पू यादव ने कहा कि उनकी महागठबंधन में वापसी होगी की नहीं यह लालू यादव, नीतीश कुमार और कांग्रेस पार्टी को तय करना है. पप्पू यादव ने कहा कि वह पहले भी विपक्ष की मजबूत आवाज थे और आज भी हैं. वह लालू प्रसाद और मुलायम सिंह के मार्गदर्शन पर चलने वाले हैं.इसके साथ ही पप्पू यादव ने कहा कि महागठबधन को मजबूत बनाने के लिए सभी को मिलकर काम करना होगा मेरा प्रयास है कि महागठबंधन की जीत हो.

पप्पू यादव ‘महागठबंधन का नेतृत्व बंदर के हाथ में’

आज भले ही पप्पू यादव महागठबंधन में शामिल होने और उसे मजबूत बनाने की बात कह रहे हैं.लेकिन महागठबंधन के लिए उन्होंने कहा था बिहार में महागठबंधन का नेतृत्व बंदर के हाथ में है.पप्पू यादव ने बिहार के महागठबंधन को लेकर कहा था कि बिहार में महागठबंधन का नेतृत्व बंदर के हाथ में है. इससे पहले पप्पू यादव कहते रहे हैं कि महागठबंधन का नेता वह राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव को मानते हैं, न कि उनके बेटे तेजस्वी यादव को.