मां की ममता के आंचल में वह पले-बढ़े दुनिया से बेखबर 5 वर्ष के मासूम को जरा भी भनक नहीं थी कि उनकी मां इस दुनिया से बहुत दूर जा चुकी है. वह मां के पास खेलता रहा और घंटों मां से लिपटा रहा. थोड़ी देर बाद जब बच्चे को भूख लगी तो उसने मां को उठाने का प्रयास किया, लेकिन वह बिल्कुल हिली-डुली नहीं. मासूम को लगा कि मां सो गई है, जिसके बाद वह भी भूख से बिलखते हुए वहीं सो गया.

वहीं जब घंटों बाद जब रेलवे स्टेशन पर GRP के जवानों ने देखा कि महिला की शरीर में कोई हरकत नहीं हो रही है और मासूम भी सो रहा है, तो वे हैरान हो गए. जब तक वह उसे डॉक्टर के पास ले जाने की तैयारी करते, तब तक उन्हें पता चल गया कि महिला की मौत हो चुकी है.

यह घटना बिहार के भागलपुर रेलवे स्टेशन की है. सोमवार देर रात मृत मां को जिंदा समझ 5 वर्ष का मासूम घंटों लिपटा रहा. रेल प्रशासन के साथ-साथ यात्रियों की भी उस पर घंटों नजर नहीं पड़ी. कई घंटों बाद जब GRP ने उसे देखा, तब जाकर पता चला कि महिला की मौत हो चुकी है. बताया जा रहा है कि वह भिखारिन थी और रेलवे स्टेशन व आसपास के क्षेत्रों में भीख मांगकर गुजर-बसर करती थी. वहीं, GRP ने इस घटना की अफसरों को खबर देते हुए शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया. फिलहाल 5 वर्षीय मासूम को चाइल्ड लाइन की टीम को सौंप दिया गया है.