महिला पुलिसकर्मी के साथ मारपीट के आरोप में गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी को मिली जमानत 

महिला पुलिसकर्मी के साथ मारपीट के आरोप में गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी को मिली जमानत 

गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी को महिला पुलिसकर्मी के साथ मारपीट करने के मामले में जमानत मिल गई है। बारपेटा जिला एवं सत्र न्यायालय ने शुक्रवार को उन्हें जमानत दे दी।

पिछले सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ एक अपमानजनक ट्वीट से जुड़े एक मामले में जमानत मिलने के बाद उन्हें महिला पुलिस अधिकारी पर कथित हमले के मामले में दोबारा गिरफ्तार कर लिया गया था।

असम के बारपेटा जिले की एक अदालत ने महिला पुलिस अधिकारी द्वारा दायर मारपीट के मामले में मंगलवार को मेवाणी को पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था। मेवाणी निर्दलीय विधायक हैं, जिन्हें कांग्रेस का समर्थन है।

प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ विवादित ट्वीट करने को लेकर कोर्ट ने सोमवार को ही जिग्नेश को जमानत दी थी। जमानत के कुछ ही देर बाद ही दूसरे थाने में दर्ज महिला पुलिसकर्मी के साथ बदतमीजी करने के मामले में उन्हें दोबारा गिरफ्तार कर लिया गया था। इस गिरफ्तारी के बाद जिग्नेश को कोर्ट में पेश किया गया था, जहां उन्हें 5 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा गया।

जिग्नेश मेवाणी को पहली बार पिछले गुरुवार को गुजरात के पालनपुर से असम पुलिस की एक टीम ने गिरफ्तार किया था। असम के कोकराझार के एक स्थानीय बीजेपी नेता ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज की थी। मेवाणी पर सोशल मीडिया में पीएम मोदी के खिलाफ टिप्पणी करने का आरोप है।

Share this story