अमित कुमार गुप्ता- संवाददाता

Seoni News: मध्यप्रदेश के सिवनी में वन्य प्राणियों के शिकार का सिलसिला लगातार जारी है। बता दें शिकारी करंट लगाकर वन्य प्राणियों का शिकार कर रहे हैं। इसी कड़ी में एक बार फिर जंगल में 11 केवी बिजली लाइन फैलाया गया था, जिसकी चपेट में आने से नर बाघ की मौत हो गई। जिससे वन विभाग की टीम में हड़कंप मच गया। वहीं, टीम ने एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है। एनटीसीए की गाइड लाइन के तहत बाघ के शव का पोस्टमॉर्टम करने के बाद शव को जला दिया है।

दरअसल, मामला दक्षिण सामान्य वनमंडल के रूखड वन परिक्षेत्र की दरासी बीट के बरकमपाठ गांव का है। जहां वन अमला को गश्ती के दौरान चौपर नाला से लगे जंगल व खेत की सीमा पर बाघ का शव दिखाई दिया। जिसके बाद वरिष्ठ अधिकारियों को इसकी जानकारी दी गई। सूचना पाते ही मौके पर डॉक्टर अखिलेश मिश्रा पहुंचे और बाघ के शव का पोस्टमार्टम किया

वहीं, वन परिक्षेत्र रूखड़ के रेंजर दानिस उइके ने बताया कि घटनास्थल पर 11 केवी बिजली लाइन से करंट फैलाने के साक्ष्य मिले हैं। खेत से लगी जंगल की सीमा तक खूटी लगाकर वन्यप्राणी का शिकार करंट फैला किया गया। अधिकारियों की टीम ने मौके से खूटियां भी जब्त की हैं। डाग स्क्वायड टीम घटनास्थल के आसपास के दो किलोमीटर के दायरे में तलाशी अभियान चला रही है। बाघ के शव में सभी अंग पूरी तरह सुरक्षित मिले हैं। मृत बाघ करीब 8 साल का वयस्क नर है, जिसका क्षेत्र में मूवमेंट था। जिसके बाद मामले में एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है और उससे पुछताछ की जा रही है।