संवाददाता रामविनोद पटेल, उमरिया म.प्र.

उमरिया: पटपरिहा ग्राम में घटित घटना पश्चात क्षेत्र संचालक बांधवगढ़  राजीव मिश्रा, उपसंचालक  लवित भारती के मार्गदर्शन एवं उप वनमंडलाधिकारी मानपुर  सुधीर मिश्रा के निर्देशन में मानपुर, ताला, कलवाह से वनकर्मियों ने मकरा कैम्प में रहकर दिनरात गस्ती कार्य किया।

6 हाथियों, पेट्रोलिंग वाहन, ट्रैप कैमरा, ड्रोन, पिंजरा  एवं सुरक्षा श्रमिक द्वारा पैदल गस्ती आदि के सहयोग से बाघ की पहचान कर उसकी मूवमेन्ट एवं स्वास्थ्य पर नज़र रखी जा रही थी।

उक्त बाघ को गडरोला ग्राम के पास के जंगल से सक्षम अधिकारियों की उपस्थिती में डॉक्टर नितिन गुप्ता के निर्देशन में रेस्क्यू टीम द्वारा बाघ का रेस्क्यू किया गया I

बाघ के परीक्षण में वह स्वस्थ्य पाया गया एवं उसकी उम्र 3 से 4 वर्ष पाई गई। उक्त क्षेत्र से हटाकर बाघ को कोर क्षेत्र के घने जंगलों में छोड़ दिया गया।