पश्चिम बंगाल के दक्षिण दिनाजपुर में छात्रा को डांटने पर एक महिला टीचर को विशेष समुदाय के लोगों ने निर्वस्त्र कर पीटा। गुस्साए लोग स्कूल में घुस गए और पीटना शुरू कर दिया। काफी देर तक हंगामा किया। इस घटना को पुलिस और स्कूल प्रबंधन ने दबाने की कोशिश की लेकिन अब यह मामला तूल पकड़ चुका है। चौतरफा निंदा होने के बावजूद पुलिस ने 35 आरोपियों के खिलाफ FIR दर्ज की है।

बता दे कि, दक्षिण दिनाजपुर के हिली थाना क्षेत्र के त्रिमोहिनी प्रताप चंद्र हाई स्कूल में जरनातुन खातून नौवीं क्लास की छात्रा है। 20 जुलाई को वह क्लास में बैठने के बजाय स्कूल परिसर में घूम रही थी। इसी बात पर महिला टीचर चैताली चाकी ने खातून का कान पकड़कर डांट दिया था। छात्रा के अनुसार इससे उसका हिजाब सिर से नीचे फिसल गया। जब छात्रा ने इस बारे में माता-पिता को बताया, तो वे भड़क उठे। इसके अगले दिन 21 जुलाई को छात्रा के परिजन उपद्रवियों के साथ स्कूल पहुंचे। जब टीचर चैताली ने अपनी सफाई देनी चाही, तो उन्होंने शिक्षिका के कपड़े फाड़ दिए और जमकर पीट डाला। उपद्रवी काफी देर तक हंगामा करते रहे। महिला टीचर के साथ ऐसी हरकत देख स्कूल के बाकी स्टाफ डरकर इधर उधर चले गए।

इस घटना के बाद टीचर स्कूल में पढ़ाने से डरने लगे हैं। इस घटना के विरोध में भाजपा बंगाल ने विरोध रैली निकाली। स्थानीय लोगों ने भी नाराजगी जताई। तब जाकर पुलिस ने 35 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की है। अब तक 4 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।