शराब पीने के लिए पैसे नहीं दिए तो पति ने शराब के नशे में पत्नी के हाथ-पैर बांध कर चाकू से वार कर दिया. जिसमें महिला के पैर सहित अनेक हिस्सों पर गहरे जख्म हो गए. महिला को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां 5 डॉक्टरों की टीम ने महिला का ऑपरेशन किया है.

राजस्थान के अलवर के सदर थाना क्षेत्र के चिकानी के पास गांव में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी के पहले हाथ पैर बांध दिए. इसके बाद चाकू से गर्दन, पेट, छाती और प्राइवेट पार्ट्स पर वार कर दिया. इससे महिला गंभीर रूप से जख्मी हो गई. आरोपी ने चाकू से 10 वार किए. महिला को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया. उसके परिजन का कहना है कि उसके पति ने शराब के लिए पैसे मांगे थे. जब मना कर दिया तो उसने घटना को अंजाम दे दिया.

जानकारी के अनुसार, नाहरपुर गांव निवासी महिला की शादी 13 साल पहले रतन सिंह राजपूत निवासी हाजीपुर थाना नोगावा के साथ हुई थी. दोनों के एक बेटा और बेटी है. बताया जा रहा है कि महिला का पति शराब का आदी है. इस वजह से वह मायके में रहती थी. उसका पति भी साथ रहने लगा था. इसके बावजूद उसकी शराब पीने को लेकर पत्नी के साथ कहासुनी होती रहती थी.

रविवार रात भी शराब पीने को लेकर झगड़ा हुआ. आरोप है कि रतन अपनी पत्नी से शराब के लिए पैसे मांग रहा था. पैसे नहीं देने पर वह इतने गुस्से में आ गया कि उसने पत्नी को मारने की प्लानिंग की. सोमवार की सुबह 4 बजे रतन ने पत्नी के हाथ-पैर पलंग से बांध दिए. इसके बाद उसने चाकू से पेट व गर्दन व प्राइवेट पार्ट पर वार किए. इस हमले में महिला बुरी तरह जख्मी हो गई. इसके बाद महिला को परिजन ने अलवर के सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती कराया है.

दीपिका के भाई कालिदास ने बताया कि उसका जीजा शराबी व जुआरी है. इसलिए बहन को मायके ले आया. यहां जीजा भी आकर रहने लगा, लेकिन उसने जुआ खेलना और शराब पीना नहीं छोड़ा. वह आए दिन बहन से शराब के लिए पैसे मांगकर परेशान करता है. परिजन का आरोप है कि जब पैसे देने से मना कर दिया तो उसने वारदात को अंजाम दिया है.

महिला का ऑपरेशन करने वाले अस्पताल के सर्जरी विभाग के हेड डॉक्टर योगेश उपाध्याय ने बताया कि महिला की गर्दन, पेट व प्राइवेट पार्ट के आसपास चाकू लगे थे. दो जगह से आंत डैमेज है. करीब 90 पर्सेंट से अधिक खून बह चुका है. अब तक 5 यूनिट ब्लड चढ़ाया जा चुका है.