देश के 49वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में जस्टिस उदय उमेश ललित ने शपथ ली। इस खास मौके पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु मौजूद रहीं। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने आज राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में न्यायमूर्ति उदय उमेश ललित को भारत के 49वें मुख्‍य न्यायाधीश के पद की शपथ दिलाई।

बता दें कि चीफ जस्टिस एनवी रमना ने उनके नाम की सिफारिश अपने उत्तराधिकारी के तौर पर की थी। जस्टिस यूयू ललित भारत के 49वें मुख्य न्यायाधीश होंगे। इसी महीने एनवी रमना रिटायर हो रहे हैं।

शपथ ग्रहण से पहले निवर्तमान मुख्य न्यायाधीश CJI एनवी रमण के विदाई समारोह में जस्टिस यूयू ललित ने तीन मुख्य सुधारों के बारे में बात की। उन्होंने कहा कि, "मेरा यह ख़ास प्रयास रहेगा मामलों को सूचीबद्ध करने में पारदर्शिता हो। ऐसी व्यवस्था बना सकूं, जिसमें जरूरी मामले संबंधित पीठों के सामने स्वतंत्रता पूर्वक उठाए जा सकें। इसके अलावा कम से कम एक संविधान पीठ की बना सकूं,जो सालभर सुचारू रूप से काम करती रहे।"