एक गर्भवती भारतीय महिला घूमने के लिए पुर्तगाल गई थी। महिला डिलीवरी के लिए अस्पताल पहुंती थी, लेकिन पुर्तगाल के सबसे बड़े अस्पताल के मेटरनिटी वार्ड में उसे जगह नहीं मिली। जिसके कारण उसे एक दूसरे अस्पताल में रेफर किया गया था। पुर्तगाल की राजधानी लिस्बॉन में महिला को जब एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल में ले जाया जा रहा था तभी उसे दिल का दौरा पड़ा। जिसके चलते भारतीय महिला पर्यटक की मौत हो गई। हालांकि महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया है। पुर्तगाल की स्वास्थ्य मंत्री मार्ता टेमिडो ने महिला मौत की खबर सामने आने के कुछ घंटे बाद इस्तीफा दे दिया।

डॉक्टर मार्टा टेमिडो के इस्तीफे को लेकर पुर्तगाल की PM ने एक बयान भी जारी किया है। पुर्तगाल सरकार ने कहा है कि डॉक्टर मार्टा को एहसास हो गया था कि उनके पास अब पद पर बने रहने के लिए कोई वजह नहीं है। PM एंटोनियो कोस्टा ने कहा कि भारतीय महिला की मौत वह आखिरी घटना है..जिसके चलते उनका इस्तीफा लिया गया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, गर्भवती भारतीय महिला को राजधानी लिस्बॉन के सांता मारिया अस्पताल में ले जाया गया था, लेकिन वहां के मेटरनिटी वार्ड में बेड खाली ना होने का हवाला देते हुए उसे भर्ती नहीं किया गया। गौरतलब है कि सांता मारिया अस्पताल देश का सबसे बड़ा अस्पताल माना जाता है। फिलहाल महिला की मौत के मामले में प्रशासनिक जांच के आदेश दिए गए हैं।

वहीं, महिला की मौत की खबर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद हंगामा मच गया है। लोग इसे लेकर पुर्तगाल सरकार की आलोचना कर रहे हैं। इन सबके चलते दबाव में आई सरकार ने स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर मार्टा टेमिडो से उनका इस्तीफा ले लिया है। बता दें कि डॉक्टर मार्टा टेमिडो साल 2018 से देश की स्वास्थ्य मंत्री थीं। उन्हें देश में कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने का श्रेय दिया जाता है।