एक ओर जहां रूस और यूक्रेन के बीच छिड़े युद्ध में हर कोई शांति की अपील कर रहा है वहीं, किम जोंग परमाणु परीक्षण करने की तैयारी में है. संयुक्त राष्ट्र की परमाणु निगरानी संस्था, अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (IAEA) के प्रमुख ने कहा है कि उत्तर कोरिया द्वारा परमाणु बम परीक्षण करने की संभावना पर दुनिया अपनी सांस रोक रही है.

प्योंगयांग पांच साल के निलंबन के बाद परमाणु परीक्षण के लिए तैयार

संयुक्त राज्य अमेरिका और दक्षिण कोरिया के अधिकारियों ने महीनों तक चेतावनी दी है कि प्योंगयांग पांच साल के निलंबन के बाद परमाणु परीक्षण की तैयारी कर रहा है. आईएईए के महानिदेशक राफेल ग्रॉसी ने बीते गुरुवार को संवदाताओं से कहा कि नॉर्थ कोरिया के इस कदम से हर कोई सहमा हुआ है. उन्होंने कहा कि नॉर्थ कोरिया के परमाणु परीक्षण के एक और कार्यक्रम की पुष्टि लगभग हो गयी है और इसकी तैयारी आगे बढ़ रही है.

खुद को और मजबूत करने की कोशिश में है नॉर्थ कोरिया

कहा कि नॉर्थ कोरिया अपने इस कदम से खुद को और मजबूत करने की कोशिश में है. हमारी उम्मीद है कि ऐसा नया हो लेकिन इनपुट किसी अलग दिशा में जा रहे है. उत्तर कोरिया के परमाणु बम परीक्षण की खबर के बाद से सबसे ज्यादा चिंतित दो देश है और वो है दक्षिण कोरिया और जापान. नॉर्थ कोरिया के पड़ोसी राज्य होने की वजह से उनकी चिंता गहरा गयी है. बता दें कि अगर उत्तर कोरिया परमाणु बम परीक्षण करती है तो 2017 के बाद से किसी उपकरण का उनका पहला विस्फोट होगा.

जवाबी कार्रवाई के लिए हमें तैयार रहना होगा- दक्षिण कोरिया

बीते बुधवार को अमेरिका, दक्षिण कोरिया और जापान ने कहा कि यदि उत्तर कोरिया परमाणु हथियार का सातवां परीक्षण करता है तो जवाबी कार्रवाई के लिए हमें तैयार रहना होगा. दक्षिण कोरिया के पहले उप विदेश मंत्री चो ह्यून-डोंग ने टोक्यो में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि तीनों सहयोगी इस बात पर सहमत हुए थे कि यदि उत्तर कोरिया सातवें परमाणु परीक्षण के साथ आगे बढ़ता है तो प्रतिक्रिया के एक अद्वितीय पैमाने की आवश्यकता होगी.