Omicron के डर के बीच दिल्ली ने 4 निजी अस्पतालों में बनाए Covid केंद्र

Omicron के डर के बीच दिल्ली ने 4 निजी अस्पतालों में बनाए Covid केंद्र

नई दिल्ली: दिल्ली सरकार ने चार निजी अस्पतालों सर गंगा राम अस्पताल, मैक्स (साकेत), फोर्टिस (वसंत कुंज) और बत्रा अस्पताल (तुगलकाबाद) को कोविड समर्पित केंद्रों में बदल दिया है। लोक नायक जय प्रकाश नारायण अस्पताल सहित दिल्ली के कुल 5 अस्पताल अब वेरिएंट का इलाज करेंगे।

राष्ट्रीय राजधानी ने शुक्रवार को नए कोविड वेरिएंट ओमिक्रॉन के 10 नए मामलों की सूचना दी, जिससे आंकड़ा बढ़कर 20 हो गया। विवरण साझा करते हुए, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजे गए 40 नमूनों में से 10 ने नए वेरिएंट के लिए पॉजिटिव पाए गए हैं।

मंत्री ने गुरुवार को कहा था कि इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पहुंचने पर कई अंतरराष्ट्रीय यात्री कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं। मंगलवार को उन्होंने कहा था कि कोरोना वायरस का ओमिक्रॉन वेरिएंट अब तक समुदाय में नहीं फैला है और स्थिति नियंत्रण में है।

दिल्ली में ओमिक्रॉन वेरिएंट का पहला मामला (रांची का एक 37 वर्षीय व्यक्ति) 5 दिसंबर को पता चला था। उसे सोमवार को छुट्टी दे दी गई। लोक नायक जय प्रकाश नारायण (एलएनजेपी) अस्पताल के प्रबंध निदेशक ने शनिवार को कहा कि ओमिक्रॉन के कुल 20 रोगियों में से केवल दो में लक्षण थे और शेष 18 में लक्षण नहीं थे।

एलएनजेपी में अब तक 20 पॉजिटिव ओमिक्रॉन मरीज आ चुके हैं, 10 को डिस्चार्ज किया जा चुका है, 10 अभी भी भर्ती हैं, इसके अलावा 2 ओमिक्रॉन मरीज निजी अस्पतालों में भर्ती हैं।उन्होंने बताया "जो 20 मरीज पॉजिटिव आए हैं, उनमें से सिर्फ 2 मरीज ऐसे थे, जिनमें लक्षण थे, एक मरीज को लूज मोशन और दूसरे मरीज को शरीर में दर्द की शिकायत थी। अन्य सभी 18 मरीज पूरी तरह से बिना लक्षण वाले थे। 20 में से 18 मरीज थे जिन्हें टीके की दोनों खुराकें मिली थीं, दो मरीजों को एक-एक खुराक मिली थी।"

Share this story