ऑस्ट्रेलिया ने तीसरे टी20 में भारत को 14 रन से हराया, मंधाना की पारी गई बेकार

 ऑस्ट्रेलिया ने तीसरे टी20 में भारत को 14 रन से हराया, मंधाना की पारी गई बेकार

नई दिल्ली. भारतीय महिला टीम को ऑस्ट्रेलिया महिला टीम के हाथों तीसरे टी20 मैच में 14 रनों से हार का सामना करना पड़ा. पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम ने भारत के सामने 150 रनों का लक्ष्य रखा. भारतीय टीम लक्ष्य का पीछा करते हुए निर्धारित 20 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 135 रन ही बना सकी. स्मृति मंधाना ने 49 गेंदों में आठ चौकों की मदद से 52 रनों की पारी खेली. उनके अलावा आखिरी क्षणों में रिचा घोष 11 गेंदों में 23 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली लेकिन टीम को जीत दिलाने में नाकाम रही.

इससे पहले सलामी बल्लेबाज बेथ मूनी (61) की अर्धशतकीय पारी के बाद तहलिया मैकग्रा की नाबाद 44 रन की आक्रामक पारी के दम पर ऑस्ट्रेलिया महिला टीम ने भारत के खिलाफ पांच विकेट पर 149 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया. मूनी ने 43 गेंद की पारी में 10 चौके लगाये जबकि पिछले मैच में टीम को जीत दिलाने वाली मैकग्रा ने एक बार फिर बल्ले से उपयोगी योगदान देते हुए 31 गेंद की नाबाद पारी में एक छक्का और छह चौके जड़े. दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 44 रन की अहम साझेदारी भी निभाई.

ऑस्ट्रेलियाई टीम ने इससे पहले शनिवार को ही दूसरा टी20 मैच जीतकर कई प्रारूपों की सीरीज को अपने नाम कर लिया था. भारतीय टीम के इस दौरे पर सीरीज विजेता का निर्धारण वनडे (तीन मैच), टेस्ट (एक मैच) और टी20 अंतरराष्ट्रीय (तीन मैच) के समग्र नतीजे पर किया गया है. भारतीय टीम इस दौरे पर सिर्फ एक वनडे मैच ही जीत पाई जबकि एकमात्र डे-नाइट टेस्ट ड्रॉ रहा.

भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर ने टॉस जीतकर क्षेत्ररक्षण का फैसला किया जिसे तेज गेंदबाज रेणुका सिंह दूसरे ओवर में एलिसा हीली को विकेटकीपर ऋचा घोष के हाथों कैच कराकर सही साबित किया. कप्तान मेग लैनिंग लय हासिल कर रही थी लेकिन सातवें ओवर में राजेश्वरी गायकवाड़ की गेंद पर हिट विकेट हो गयी. उन्होंने 14 रन बनाये.

इसके बाद पूजा वस्त्राकर ने ऐश्ली गार्डनर (एक रन) को ऋचा के हाथों कैच कराया तो वहीं एलिसा पेरी दीप्ति शर्मा की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में वस्त्राकर को कैच थमा बैठी. उन्होंने आठ रन बनाये. टीम 12वें ओवर में 73 रन पर चौथा विकेट गंवा कर संघर्ष कर रही थी लेकिन पिछले मैच की तरह एक बार मूनी और मैकग्रा ने संकटमोचक की भूमिका निभाई. दोनों ने 44 रन की अहम साझेदारी की जिसमें मूनी ने तेजी से रन जुटाये.

राजश्वरी ने मैच के 18वें ओवर मूनी को कप्तान हरमनप्रीत कौर के हाथों कैच कराया लेकिन इसी ओवर में मैकग्रा ने छक्का और फिर चौका जड़कर 16 रन बटोर लिये. मैकग्रा ने 19वें ओवर में शिखा पांडे के खिलाफ चौका जड़ा जबकि जॉर्जिया वेयरहम ने 20वें ओवर में दीप्ति की गेंद को सीमा रेखा के पार पहुंचाया. इन दोनों ओवरों से 10-10 रन बने. इस तरह से ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी तीन ओवरों में 36 रन बटोरे. भारत के लिए राजेश्वरी ने चार ओवर में 37 रन देकर दो जबकि रेणुका, वस्त्राकर और दीप्ति ने एक-एक विकेट लिया

Share this story