Mohammad Hafeez Retirement: पाकिस्तान के अनुभवी ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज ने 41 साल की उम्र में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास

Mohammad Hafeez Retirement: पाकिस्तान के ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज ने 41 साल की उम्र में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास


Mohammad Hafeez: पाकिस्तान क्रिकेट टीम के अनुभवी ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है. हफीज ने 392 अंतरराष्ट्रीय मैचों में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया

Mohammad Hafeez: पाकिस्तान क्रिकेट टीम (Pakistan Cricket Team) के अनुभवी ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज (Mohammad Hafeez) ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट (International Cricket) को अलविदा कह दिया है.

हफीज के संन्यास की जानकारी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल ने ट्वीट कर दी. हफीज ने करीब दो दशक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला. उन्होंने इससे पहले साल 2018 में भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था.

41 वर्षीय हफीज ने 392 अंतरराष्ट्रीय मैचों में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया, जिसमें उन्होंने 12,789 रन बनाए और 253 विकेट लिए. उन्होंने देश के लिए 55 टेस्ट, 218 एकदिवसीय और 119 T20I खेले हैं, जिसमें तीन वनडे वर्ल्ड कप और छह टी20 वर्ल्ड कप शामिल हैं. हफीज का अंतरराष्ट्रीय डेब्यू 2003 में जिम्बाब्वे के खिलाफ एकदिवसीय मैच में हुआ था और उनका आखिरी मैच पिछले साल नवंबर में टी20 विश्व कप सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया से पाकिस्तान की हार थी.

एक सफल करियर के दौरान, उन्होंने शाहिद अफरीदी (43), वसीम अकरम (39) और इंजमाम-उल-हक (33) के बाद 32 प्लेयर-ऑफ-द-मैच पुरस्कार जीते. इसके अलावा हफीज ने 9 प्लेअर ऑफ द सीरीज के अवॉर्ड भी हासिल किए. उन्होंने कहा था कि टी20 वर्ल्ड कप 2020 पाकिस्तान के लिए उनका आखिरी टूर्नामेंट होगा, लेकिन कोविड-19 के कारण टूर्नामेंट को टाल दिया गया था.

हफीज ने क्या कहा

अपने रिटायरमेंट की घोषणा करते हुए हफीज ने कहा कि आज मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को गर्व और संतोष के साथ अलविदा कहता हूं. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने मेरे करियर के दौरान मेरी मदद की. उन्होंने कहा, 'मैं बेहद भाग्यशाली और गौरवान्वित हूं कि मुझे 18 साल तक पाकिस्तान के लिए खेलना का मौका मिला. मेरा देश और मेरी टीम हमेशा सबसे आगे रही है और इसलिए, जब भी मैंने मैदान पर कदम रखा, मैंने क्रिकेट की भावना की समृद्ध परंपराओं के भीतर खेलकर उनकी छवि को बढ़ाने की कोशिश की.' हफीज ने कहा कि जब तक आपका करियर इतना लंबा होता है तो उसमें उतार चढ़ाव आते हैं. मेरे साथ भी ऐसा हुआ

Share this story