आज लखीमपुर जाएंगे राहुल गांधी, दो नेता होंगे साथ,धारा 144 के बीच पीड़ितों से मिलने के लिए,सरकार से नहीं मिली है इजाजत
 

आज लखीमपुर जाएंगे राहुल गांधी, दो नेता होंगे साथ,धारा 144 के बीच पीड़ितों से मिलने के लिए,सरकार से नहीं मिली है इजाजत

लखीमपुर खीरी की हिंसा, प्रियंका गांधी वाड्रा की गिरफ्तारी और पीड़ित परिवारों से मिलने से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा रोके जाने पर राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस किया और यूपी व केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि वो दो नेताओं के साथ लखीमपुर खीरी जाएंगे. दरअसल, कांग्रेस पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ राहुल गांधी लखीमपुर खीरी जाने वाले थे. इसके लिए उन्होंने यूपी सरकार से इजाजत भी मांगी लेकिन उन्हें इजाजत नहीं मिली.

इससे पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लखीमपुर खीरी की हिंसा और प्रियंका गांधी वाड्रा को गिरफ्तार किए जाने को लेकर मंगलवार को सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि किसानों को गाड़ी से कुचलने वाले केंद्रीय मंत्री के पुत्र को हिरासत में नहीं लिए जाने का मतलब यह है कि देश का संविधान खतरे में है. उन्होंने जोर देकर यह भी कहा कि प्रियंका गांधी एक सच्ची कांग्रेसी हैं और डरने वाली नहीं हैं तथा उनका सत्याग्रह जारी रहेगा.

राहुल गांधी ने लखीमपुर में किसानों को गाड़ी से कुचलने से संबंधित एक कथित वीडियो को साझा करते हुए फेसबुक पोस्ट में कहा था, ‘एक मंत्री का बेटा अगर अपनी गाड़ी के नीचे सत्याग्रही किसानों को कुचल दे, तो देश का संविधान ख़तरे में है. अगर वीडियो के सामने आने के बाद भी उसे हिरासत में ना लिया जाए तो देश का संविधान ख़तरे में है. अगर एक महिला नेता को 30 घंटे तक बिना प्राथमिकी के हिरासत में रखा जाए तो देश का संविधान ख़तरे में है.’

उन्होंने यह दावा किया था, ‘अगर कत्ल हुए पीड़ितों के परिवार से किसी को ना मिलने दिया जाए तो देश का संविधान ख़तरे में है. अगर ये वीडियो किसी को दुखी नहीं करता तो मानवता भी ख़तरे में है.’

राहुल गांधी का प्रेस कॉन्फ्रेंस जारी है…

Share this story