लखीमपुर खीरी मामले को लेकर थोड़ी देर में राष्ट्रपति कोविंद से मिलेंगे राहुल, प्रियंका समेत सात नेता, सौंपेंगे ज्ञापन

लखीमपुर खीरी हिंसा :थोड़ी देर में राष्ट्रपति कोविंद से मिलेंगे राहुल, प्रियंका समेत 7 नेता, सौंपेंगे ज्ञापन

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल लखीमपुर खीरी हिंसा मामले को लेकर बुधवार यानी आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करेगा और उन्हें इस घटना से जुड़ा एक ज्ञापन सौंपेगा. कांग्रेस के इस 7 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल में राहुल गांधी के अलावा राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, वरिष्ठ नेता एके एंटनी, गुलाम नबी आजाद, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा और संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल शामिल होंगे.

कांग्रेस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, पार्टी का यह प्रतिनिधिमंडल बुधवार को सुबह 11.30 बजे राष्ट्रपति से मुलाकात करेगा. कांग्रेस ने 10 अक्टूबर को राष्ट्रपति को पत्र लिखकर पार्टी के 7 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल के लिए राष्ट्रपति से मिलने का समय मांगा था. जिसके बाद मंगलवार को राष्ट्रपति की तरफ से इस निवेदन को मंजूरी दे दी गई. कांग्रेस लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा को बर्खास्त करने की मांग कर रही है.

सरकार पर हमलावर है कांग्रेस

यही नहीं, कांग्रेस इस हिंसक घटना को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार पर लगातार हमलावर है. पार्टी के नेता इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर भी सवाल उठा रहे हैं. लखीमपुर खीरी के तिकुनिया गांव का दौरा कर पीड़ित परिवारों से मिलने वाले प्रियंका गांधी वाड्रा और राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर तंज कसा, जो विकास परियोजनाओं का उद्घाटन करने के लिए लखनऊ गए थे. कांग्रेस नेताओं ने कहा कि प्रधानमंत्री के पास लखीमपुर खीरी जाने का समय नहीं है.

इस बीच बीजेपी ने कहा कि लखीमपुर खीरी कांड को लेकर विपक्ष राजनीति कर रहा है. राहुल और प्रियंका गांधी का नाम लेते हुए, भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि वे खुद को ‘दलितों के चैंपियन’ के रूप में पेश करने की कोशिश कर रहे थे. पात्रा ने कहा, ‘फिर भी, राजस्थान में (कांग्रेस द्वारा शासित) एक युवा दलित व्यक्ति की कुछ दिनों पहले पीट-पीटकर हत्या करने की घटना की जांच नहीं की गई और किसी का ध्यान नहीं गया.’

मामले में तीन लोगों की गिरफ्तारी

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी जिले के तिकोनिया क्षेत्र में बीते 3 अक्टूबर को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव के दौरे के विरोध को लेकर भड़की हिंसा में 4 किसानों समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी. इस मामले में मिश्रा के बेटे आशीष समेत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. इस मामले में आशीष मिश्रा समेत 3 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

Share this story