अंबिकापुर-बनारस हाईवे जाम,  सांसद रामविचार नेताम, 10 दिन में मांग पूरी नहीं होने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी

 सांसद रामविचार नेताम  ने डेढ़ घंटे किया अंबिकापुर-बनारस हाईवे जाम, 10 दिन में मांग पूरी नहीं होने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी

अंबिकापुर: अंबिकापुर में भारतीय जनता युवा मोर्चा ने अब शहर के बदहाल सड़क को लेकर मोर्चा खोल दिया है। खस्ताहाल सड़क के विरोध में कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को अंबिकापुर-बनारस हाईवे जाम कर दिया है। BJYM की जाम की वजह से ये हाईवे करीब डेढ़ घंटे तक बंद रहा। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की। वहीं इसी प्रदर्शन में राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम भी शामिल हुए और कहा कि यदि हमारे मांंगें पूरी नहीं होती हैं तो हमारा संघर्ष आगे भी जारी रहेगा।

प्रदर्शन में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शामिल हुए।

प्रदर्शन में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शामिल हुए।

दरअसल, पिछले 2 सालों से शहर की कई सड़कें खराबी हो चुकी हैं। जिसकी वजह से बरसात के दिनों में लोगों को और परेशानी की सामना करना पड़ता है। इसी वजह से BJYM ने शहर के अंबेडकर चौक के पास चक्काजाम किया और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस प्रदर्शन को समर्थन करने राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम भी पहुंचे थे उन्होंने भी प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की है।

सांसद इस तरह से नारेबाजी करते रहे।

सांसद इस तरह से नारेबाजी करते रहे।

इस दौरान भाजपा युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष विजय सिंह तोमर ने कहा कि सरगुजा जिले के लोक निर्माण विभाग एवं अन्य एजेंसी की लापरवाही के चलते सड़कों की स्थिति लगभग 2 साल से बेहद खराब हो चुकी है। ग्रामीण क्षेत्रों में दर्जनों गांव के डामर वाले रोड भी पूरी तरह उखड़ चुके हैं। तोमर ने कहा कि सड़क निर्माण विभाग की लापरवाही से आम जनता आक्रोशित है। कुछ क्षेत्रों में वाहन तो दूर पैदल चलना भी मौत को दावत देने जैसा हो गया है।

निगम क्षेत्र में करोड़ों रुपए खर्च करने के बाद भी सड़कें बदहाल हैं। विजय ने प्रशासन पर हमला बोलते हुए कहा कि कहीं एक महीने में सड़क का डामर उखड़ रहा है तो कहीं साल भर में ही उखड़ जाता है। इसीलिए हमने 9 सूत्रीय मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा है। यदि 10 दिन में मांगे पूरी नहीं होती हैं तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

Share this story