केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया मंगलवार को सुबह अचानक ग्वालियर पहुंचे

ok

 केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया मंगलवार को सुबह अचानक ग्वालियर पहुंचे और यहां उन्होंने सिखों के धार्मिक तीर्थ किला स्थित दाता बंदी छोड़ गुरुद्वारा पहुंचकर मत्था टेका।

बता दें कि दाता बंदीछोड़ के 400 वर्ष पूरे होने पर ग्वालियर किला स्थित दाता बंदीछोड़ गुरुद्वारा पर सोमवार से तीन दिवसीय महोत्सव शुरू हुआ है, जिसमें देश-प्रदेश के साथ विदेशों से भी श्रद्धालु शामिल हो रहे हैं और गुरुद्वारे में मत्था टेक अटूट लंगर का लाभ उठा रहे हैं। केन्द्रीय मंत्री सिंधिया और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस महोत्सव में सोमवार को ही शामिल होने वाले थे, लेकिन दोनों का ग्वालियर आना रद्द हो गया था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को अपना संदेश भेजा था, जिसे संस्कृति एवं अध्यात्म मंत्री उषा ठाकुर ने महोत्सव के शुभारम्भ अवसर पर पढ़कर सुनाया था।

इसी बीच केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया मंगलवार को अचानक ग्वालियर पहुंच गए। वे सुबह ग्वालियर पहुंचने के बाद सीधे कार में सवार होकर दाता बंदी छोड़ गुरुद्वारा पहुंचे और मत्था टेका। इसके बाद वे प्रकाश पर्व में शामिल हुए और समाजजनों से बातचीत कर उन्हें इस ऐतिहासिक आयोजन के लिए बधाई दी। केन्द्रीय मंत्री सिंधिया की सुरक्षा में सुबह से ही शहर की पुलिस मुस्तैद रही।

Share this story