UP Election 2022: मुश्किल में फंसे कांग्रेस नेता इमरान मसूद, बिना इजाजत भीड़ जुटाने पर दर्ज हुई एफआईआर

UP Election 2022: मुश्किल में फंसे कांग्रेस नेता इमरान मसूद, बिना इजाजत भीड़ जुटाने पर दर्ज हुई एफआईआर

संवाददाता अंकित कुमार 

UP Election: इमरान मसूद द्वारा अपने समर्थकों के साथ अपने निवास पर बैठक बुलाई गई थी. इस सभा को रखने के लिए इमरान मसूद ने कोई पूर्व अनुमति नहीं ली.

UP Assembly Election 2022: आज इमरान मसूद द्वारा अपने समर्थकों के साथ अपने निवास पर पार्टी छोड़ने से पहले समर्थकों की एक मीटिंग बुलाई गई. जिसमें काफी बड़ी संख्या में भीड़ मौजूद थी. इस सभा को रखने के लिए इमरान मसूद ने कोई पूर्व अनुमति नहीं ली. इस मीटिंग के अंदर ना तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हुआ और ना ही किसी ने मास्क लगाया हुआ था. जिसको देखते हुए थाना कुतुबशेर में इमरान मसूद सहित 10 लोगों पर नामजद व 300 अज्ञात लोगों के विरुद्ध आईपीसी की धारा व महामारी अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है.

तीन सौ अज्ञातों पर भी एफआईआर
 जिला प्रशासन द्वारा इस मीटिंग के बाद मामले में तुरंत संज्ञान लिया गया. इमरान मसूद सहित मुख्य लोगों पर नामजद मुकदमा किया गया. इस बारे में पुलिस अधीक्षक नगर राजेश कुमार द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि आज इमरान मसूद द्वारा अपने निवास स्थान पर एक मीटिंग बुलाई गई थी. जिसमें काफी बड़ी संख्या में भीड़ मौजूद थी और मौजूद भीड़ में किसी तरह की सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया गया था. ना ही इस मीटिंग के लिए परमिशन ली गई थी. इसके लिए थाना कुतुबशेर में इमरान मसूद सहित 10 लोगों को नामजद करते हुए मुकदमा लिखा गया है. इसमें तीन सौ अज्ञात लोगों पर भी मुकदमा दर्ज किया गया है. यह मुकदमा आईपीसी की धाराओं के साथ-साथ महामारी अधिनियम के अंतर्गत दर्ज किया गया है.

कांग्रेस से हुए बागी
बता दें कि कांग्रेस नेता इमरान मसूद ने बीजेपी को हराने के लिए समाजवादी पार्टी का साथ देने की बात कही है. इमरान मसूद पहले से ही अपनी पार्टी कांग्रेस का विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी से गठबंधन की बात करते रहे थे, लेकिन उनकी बात नहीं मानी गई. कांग्रेस इस बार विधानसभा का चुनाव अकेले लड़ रही है. जिसके बाद उन्होंने सपा में जाने का मन बना लिया था. इसी को लेकर उन्होंने अपने निवास पर समर्थकों की बैठक बुलाई थी.

Share this story