हैती शरणार्थियों को लेकर पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दिया 'विवादित बयान', कहा- 'इनमें से कई लोगों को AIDS'

हैती शरणार्थियों को लेकर पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दिया 'विवादित बयान', कहा- 'इनमें से कई लोगों को AIDS'

अमेरिका: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने अमेरिका में एंट्री करने के इच्छुक हैती प्रवासियों (Haitian immigrants) के खिलाफ आक्रामक बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि हैती प्रवासियों में से सैकड़ों और हजारों अमेरिका में आ रहे हैं और उनमें से कई को एड्स (AIDS) है. ट्रंप ने राष्ट्रपति के रूप में भी अपने कार्यकाल के दौरान हैती के प्रति अपमानजनक टिप्पणियां की थीं. फॉक्स न्यूज के होस्ट सीन हैनिटी से बात करते हुए पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि हैती प्रवासियों को अमेरिका में आने की अनुमति देना देश के लिए मौत की इच्छा मांगने जैसा है.

डोनाल्ड ट्रंप टेक्सास (Texas) के डेल रियो में यूएस-मेक्सिको सीमा (US-Mexico border) पर शरण मांगने वाले हजारों हैती प्रवासियों और शरणार्थियों का जिक्र कर रहे थे. दरअसल, हैती में दो घातक भूकंप और जुलाई में हैती के राष्ट्रपति जोवेनेल मोईस (Jovenel Moïse) की हत्या के बाद कई नागरिक देश छोड़कर भाग गए हैं. बातचीत के दौरान ट्रंप ने बार-बार दावा किया कि अमेरिका में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे हैती प्रवासी एड्स से संक्रमित हैं. उन्होंने कहा, ‘हैती में बड़े पैमाने पर एड्स की समस्या हैं. एड्स एक कदम आगे है, एड्स एक वास्तविक बुरी समस्या है.’

हैती में कम हो रहे हैं AIDS के केस

पूर्व राष्ट्रपति ने कहा, ‘हमारे देश में सैकड़ों हजारों लोग आ रहे हैं. यदि आप आंकड़ों को देखें और संख्याओं को देखें, तो आपको पता चलेगा कि हैती (Haiti) में क्या हो रहा है. एड्स एक जबरदस्त समस्या है.’ ट्रंप के दावों के उलट संयुक्त राष्ट्र (United Nations) के आंकड़े कुछ और ही तस्वीर दिखाते हैं. संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक, 15 से 49 वर्ष की आयु के वयस्कों में HIV का प्रसार लगभग 1.9 फीसदी है, जो 0.7 फीसदी की वैश्विक दर से अधिक है. रिपोर्टों का कहना है कि हाल के दशकों में हैती की HIV प्रसार दर काफी कम हुई है. 1980 के दशक में हैती पर आरोप लगाया गया कि उसके नागरिकों के जरिए अमेरिका में AIDS फैला.

ट्रंप ने पहले भी दिए हैं विवादित बयान

डोनाल्ड ट्रंप ने पहले भी ऐसे दावे किए हैं. मुताबिक, 2017 में ट्रंप ने कथित तौर पर व्हाइट हाउस (White House) की एक बैठक में कहा कि अमेरिकी वीजा हासिल करने वाले 15,000 हैती प्रवासियों को एड्स है. हालांकि, व्हाइट हाउस ने इस बात से इनकार कर दिया कि ट्रंप ने उन शब्दों का इस्तेमाल किया. इसके बाद 2018 में ट्रंप ने अप्रवासियों को लेकर बेहद की आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल किया. इस बार, व्हाइट हाउस ने इनकार नहीं किया कि ट्रंप ने इन शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया है. ट्रंप ने बाद में ट्वीट कर कहा कि उन्होंने बैठक में एक कठोर भाषा का इस्तेमाल किया था.

Share this story